क्या हैं कोरोना वायरस आइये जानिए (Corona virus)

क्या हैं कोरोना वायरस आइये जानिए (Corona virus)

इन दिनों दुनियाभर में चीन (China) से फैला  कोरोना वायरस को लेकर चिंता की जा रही है. कोरोना वायरस (Corona virus) दर्जनों देशों को अपनी चपेट में ले चुका है. भारत में भी इसके कुछ संदिग्ध मामले सामने आए हैं. चीन, पाकिस्तान, अमेरिका जैसे कई देश इस वायरस को लेकर अपने यहां पहले ही एलर्ट घोषित कर चुके हैं.

इस नई महामारी की वजह से चीन में मरने वालों का आंकड़ा सौ के पार चला गया है. सबसे पहले ये वायरस चीन में पाया गया, उसके बाद से ही वहां पर एलर्ट हैं. बिहार में इस वायरस से संक्रमित मरीज मिला है.

चीन से लौटी एक लड़की में कोरोना वायरस के लक्षण मिले हैं, जिसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है. रविवार को जयपुर में भी चीन से लौटे एक स्टूडेंट में कोरोना वायरस के लक्षण मिले थे, जिसका इलाज चल रहा है.

हाल के वर्षों में संक्रमण से फैलने वाली कई नई बीमारियां चीन से फैली हैं. इनमें सीवियर एक्यूट रेसपेरेट्री सिंड्रोम (सार्स) और बर्ड फ्लू जैसी बीमारियां शामिल हैं. अब कोरोना वायरस नाम की नई बीमारी ने कहर बरपा रखा है. 

विशेषज्ञ बता रहे हैं कि चीन के उन्हीं इलाकों से ये बीमारियां फैल रही हैं, जहां की आबादी घनी है. घनी आबादी की वजह से संक्रमण तेजी से फैलता है और फिर ये दुनिया के कई हिस्सों को अपनी चपेट में ले लेता है. पिछले कुछ वर्षों में संक्रामक बीमारियों के फैलने का तकरीबन यही पैटर्न रहा है.

कोरोना वायरस क्या हैं

 इस वायरस के लक्षण निमोनिया की ही तरह है.  यह वायरस कोरोनो वायरस परिवार से संबंध रखने वाला वायरस है. कोरना वायरस जानवरों में भी पाया जाता है. समुद्री जीव-जंतुओं के जरिए यह वायरस चीन के लोगों में फैला.

दक्षिण चीन में समुद्र के आसपास रहने वाले लोगों को सबसे पहले इस वायरस ने चपेट में लिया, जिनमें वुहान शहर है. दक्षिण चीन के बाजार जहां काफी मात्रा में समुद्री जीव मिलते हैं, उनके जरिए यह वायरस लोगों में फैला.

इस बाजार में समुद्री जीव जिंदा भी मिलते हैं और उनका मांस भी मिलता है. यहीं से इस वायरस ने चीन के निवासियों को अपनी चपेट में लिया. कोरोना वायरस (सीओवी) का संबंध वायरस के ऐसे परिवार से है.

जिसके संक्रमण से जुकाम से लेकर सांस लेने में तकलीफ जैसी समस्या हो सकती है. इस वायरस को पहले कभी नहीं देखा गया है. इस वायरस का संक्रमण दिसंबर में चीन के वुहान में शुरू हुआ था. अब तक इस वायरस को फैलने से रोकना वाला कोई टीका नहीं है.

वायरस के एक अन्य आनुवांशिक विश्लेषण में भी पाया गया कि कोरोना वायरस की उत्पत्ति चमगादड़ या सांपों से होने की संभावना है. बीजिंग के चाइनीज एकेडमी ऑफ साइंसेज द्वारा प्रायोजित यह अध्ययन पत्रिका साइंस चाइना लाइफ साइंस में प्रकाशित हुआ है.

कोरोना वायरस के लक्षण

  • बुखार
  • सांस लेने में दिक्कत
  • सर्दी-जुकाम 
  • खांसी
  • नाक का लगातार बहना
  • सिर में दर्द
  • ऑर्गन  फेल्योर (अंगों का काम करना बंद )

क्या हैं इससे बचाव के उपाय

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने कोरोना वायरस से बचने के लिए दिशानिर्देश जारी किए हैं. इनके मुताबिक, हाथों को साबुन से धोना चाहिए. अल्‍कोहल आधारित हैंड रब का इस्‍तेमाल भी किया जा सकता है.

खांसते और छीकते समय नाक और मुंह रूमाल या टिश्‍यू पेपर से ढककर रखें. जिन व्‍यक्तियों में कोल्‍ड और फ्लू के लक्षण हों उनसे दूरी बनाकर रखें. अंडे और मांस के सेवन से बचें. जंगली जानवरों के संपर्क में आने से बचें.

Note :-

इस खतरनाक वायरस की वजह से चीन में 80 लोगों की मौत हो चुकी है और 2,744 संक्रमित मरीजों की पुष्टि हुई है। सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक, इनमें से 461 मरीजों की हालत बेहद गंभीर बनी हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *