Muh ke chhale मुंह के छालों से छुटकारा पाने के आयुर्वेदिक घरेलू उपाय

मुंह के छालों से छुटकारा पाने के आयुर्वेदिक घरेलू उपाय

मुंह में अगर छाले हो जाएं तो जीना मुहाल हो जाता है। खाना तो दूर पानी पीना भी मुश्किल हो जाता है। लेकिन, इसका इलाज आपके आसपास ही मौजूद है। Muh ke chhale मुंह के छाले गालों के अंदर और जीभ पर होते हैं। असंतुलित आहार, पेट में दिक्कत, पान-मसालों का सेवन छाले का प्रमुख कारण है। छाले होने पर बहुत तेज दर्द होता है। आइए हम आपको Muh ke chhale मुंह के छालों से बचने के लिए घरेलू उपचार बताते हैं।

Muh ke chhale

दरअसल मुंह में छाले होना एक आम समस्या है। कई बार भोजन में गडबड़ी या तीखा भोजन करने से जीभ पर, होंठों पर और अंदर छाले हो जाते हैं जो आमतौर पर पांच सात दिन में ठीक भी हो जाते हैं। कभी-कभी छाले लम्बे समय तक ठीक नहीं होते जो भोजन करते व बोलते समय तकलीफ देते हैं। कई बार गंभीर हो जाने पर इनसे खून भी निकलता है। ऐसे में डॉक्टर से इनकी जांच अवश्य करानी चाहिए, क्योंकि ये घातक भी हो सकते हैं।

छालों के मुख्य कारण ( Muh ke chhale)

  • अधिक मसालेदार भोजन करने से।
  • ज्यादा गर्म खाद्य पदार्थ और पेयों आदि का सेवन करने से।
  • दांतों की ठीक प्रकार सफाई न करने से।
  • अधिक एसिडिक खाद्य पदार्थों का सेवन करना।
  • शरीर में विटामिन बी और आयरन की मात्रा सामान्य न होना।
  • एलर्जी करने वाले खाद्य पदार्थों का सेवन करना।

कभी-कभी हल्के-फुल्के बुखार के साथ भी छाले हो जाते हैं, वहीं कुछ स्त्रियों में महावारी आने से पहले ये हो जाते हैं। तनाव के कारण भी छाले हो सकते हैं। छालों होने का कारण दांतों की समस्या से भी जुड़ा हो सकता है। किसी दांत का तेज किनारा, ब्रश करते हुए या डेंचर पहनते व उतारते समय बने जख्म भी छाले बन परेशानी पैदा कर सकते हैं।

मुंह के छालों से बचने के घरेलू उपचार ( Home Remedies for Mouth Ulcer / Muh ke chhale ka gharelu upay )

Muh ke chhale

  • एक गिलास कुनकुने पानी में आधा चम्मच नमक मिलाएं और इसे धीरे-धीरे मुंह में चलाएं। इस क्रिया को दिन में तीन से चार बार दोहराएं। इससे थोड़ी जलन और दर्द तो जरूर हो सकता है, लेकिन छाले जल्द ठीक जाते हैं।
  • शहद में मुलहठी का चूर्ण मिलाकर इसका लेप मुंह के छालों Muh ke chhale पर करें और लार को मुंह से बाहर टपकने दें।
  • मुंह में छाले होने पर अडूसा के 2-3 पत्तों को चबाकर उनका रस चूसना चाहिए।
  • छाले होने पर कत्था और मुलहठी का चूर्ण और शहद मिलाकर मुंह के छालों पर लगाने चाहिए।
  • अमलतास की फली मज्जा को धनिये के साथ पीसकर थोड़ा कत्था मिलाकर मुंह में रखिए। या केवल अमलतास के गूदे को मुंह में रखने से मुंह के छाले दूर हो जाते हैं।
  • अमरूद के मुलायम पत्तों में कत्था मिलाकर पान की तरह चबाने से मुंह के छाले से राहत मिलती है और छाले ठीक हो जाते हैं।
  • सूखे पान के पत्ते का चूर्ण बना लीजिए, इस चूर्ण को शहद में मिलाकर चाटिए, इससे मुंह के छाले Muh ke chhale समाप्त हो जाएंगे।
  • पान के पत्तों का रस निकालकर, देशी घी में मिलाकर छालों पर लगाने से फायदा मिलता है और छाले समाप्त हो जाते हैं।
  • नींबू के रस में शहद मिलाकर इसके कुल्ले करने से मुंह के छाले दूर होते हैं।
  • ज्यादा से ज्यादा मात्रा में पानी का सेवन कीजिए, इससे पेट साफ होगा और मुंह के छाले नहीं होंगे।

Muh ke chhale ka gharelu upay

Muh ke chhale

  • मशरूम को सुखाकर बारीक चूर्ण तैयार कर लीजिए, इस चूर्ण को छालों पर लगा दीजिए। मुंह के छाले Muh ke chhale ठीक हो जाएंगे।
  • मुंह के छाले होने पर चमेली के पत्तों को चबाइए। इससे छाले समाप्त हो जाते हैं।
  • छाछ से दिन में तीन से चार बार कुल्ला करने से मुंह के छाले Muh ke chhale ठीक होते हैं।
  • खाना खाने के बाद गुड चूसने से छालों में राहत होती है।
  • मेंहदी और फिटकरी का चूर्ण बनाकर छालों पर लगाएं, इससे मुंह के छाले Muh ke chhale समाप्त होते हैं।

अगर आपको बार-बार मुंह के छाले Muh ke chhale हो रहे हैं तो अपने मुंह की सफाई पर विशेष ध्यान दीजिए। ज्यादा मसालेदार और गरिष्ठ भोजन करने से बचें। अगर फिर भी छाले ठीक न हो रहे हों तो जल्द चिकित्सक से सलाह व उपचार अवश्य लीजिए।

Like Our Facebook Page

FoodFactFun