Makar Sankranti – मकर संक्रांति के बारे में दिलचस्प तथ्य जानकार रह जायेंगे दंग

kajal bajaj
5 Min Read
Advertisement
Advertisement

Makar Sankranti – मकर संक्रांति के बारे में दिलचस्प तथ्य जानकार रह जायेंगे दंग

मकर संक्रांति: एक परिचय

मकर संक्रांति भारतीय हिन्दू धर्म का एक महत्वपूर्ण त्योहार है जो हर साल 14 जनवरी को मनाया जाता है। यह त्योहार सूर्य के उत्तरायण को स्वीकार करता है और भारत के विभिन्न हिस्सों में अलग-अलग नामों से मनाया जाता है, जैसे मकर संक्रांति, पोंगल, उत्तरायण, मघु संक्रांति, बिहु आदि। इस त्योहार का महत्व अपने विभिन्न सांस्कृतिक और राजनीतिक पहलुओं के लिए उच्च है और इसे भारतीयों के बीच एक बड़े उत्सव के रूप में देखा जाता है।

Makar Sankranti 2023: 7 Traditional Sweets Eaten Around India

इंडेक्स

  1. मकर संक्रांति का परिचय
  2. मकर संक्रांति का इतिहास
  3. मकर संक्रांति के सात प्रमुख प्रश्न
  4. मकर संक्रांति का निष्कर्ष
  5. आपको जानना होने वाली बातें

मकर संक्रांति का इतिहास

मकर संक्रांति का इतिहास बहुत रूपी है और इसमें हिन्दू पौराणिक कथाएं, व्रत, और धार्मिक आदिकाल से जुड़े महत्वपूर्ण घटनाएं शामिल हैं। इस दिन सूर्य देवता को नमस्कार करने का मानव उत्साह देखा जाता है। विभिन्न राज्यों में यह त्योहार विभिन्न नामों से मनाया जाता है, लेकिन एक सामान्य धारा में, यह सूर्य के उत्तरायण का स्वागत करता है और शीतकाल की शुरुआत को सूचित करता है।

मकर संक्रांति के सात प्रमुख प्रश्न

  • मकर संक्रांति क्यों मनाई जाती है? मकर संक्रांति, हिन्दू पंचांग के अनुसार, सूर्य का मकर राशि में प्रवेश का समय होता है। इस अवसर पर, लोग सूर्य की पूजा करते हैं और खिचड़ी, तिल और गुड़ का सेवन करते हैं। यह त्योहार हिन्दू समाज में सूर्य की ऊर्जा की उपस्थिति को संबोधित करने के रूप में मनाया जाता है।
  • इस त्योहार को विभिन्न नामों से क्यों जाना जाता है? कुछ त्योहार विभिन्न क्षेत्रों और समुदायों में अलग-अलग रूपों में मनाए जाते हैं, जिसके कारण उन्हें विभिन्न नामों से जाना जाता है। स्थानीय सांस्कृतिक और ऐतिहासिक परंपराओं के आधार पर, त्योहारों को अलग-अलग नामों से संबोधित किया जा सकता है। इससे समृद्धि, सांस्कृतिक विविधता, और समृद्धि का अनुभव हो सकता है।
  • क्या मकर संक्रांति एक हिन्दू त्योहार है या इसे अन्य समुदायों में भी मनाया जाता है? मकर संक्रांति हिन्दू त्योहार है, लेकिन इसे अन्य समुदायों और क्षेत्रों में भी विभिन्न रूपों में मनाया जाता है।
  • इस दिन किस प्रकार के पर्व और आयोजन किए जाते हैं? मकर संक्रांति दिन, सूर्य का मकर राशि में प्रवेश करता है, जिसे हिन्दी पंचांग के अनुसार उत्तरायण कहा जाता है। यह एक हिन्दू पर्व है जो भारतवर्ष में मनाया जाता है। इसे मकर संक्रांति के रूप में मनाने के लिए विभिन्न रूपों में पुनरागमन और दान-पुण्य का आयोजन किया जाता है।
  • मकर संक्रांति का इतिहास क्या है? मकर संक्रांति, हिन्दी पंचांग के अनुसार माघ मास के कृष्ण पक्ष की द्वादशी तिथि को मनाई जाती है। इस दिन सूर्य उत्तरायण में मकर राशि में प्रवेश करता है। इसे हिन्दी धर्म में मकर संक्रांति कहा जाता है और इसे उत्तरायण मेला के रूप में भी मनाया जाता है। इस दिन बग़वान सूर्यदेव की पूजा की जाती है और लोग गंगा स्नान करने के लिए तीर्थ स्थलों पर जाते हैं। यह त्योहार भारतवर्ष में विभिन्न रूपों में मनाया जाता है और इसका महत्व धार्मिक और सांस्कृतिक परंपरा में है।
  • क्या इस त्योहार के साथ किसी विशेष धार्मिक कार्यक्रम का आयोजन होता है? हाँ, इस त्योहार के साथ कई विशेष धार्मिक कार्यक्रम होते हैं।
  • मकर संक्रांति के दिन क्या परंपरागत भोजन बनाया जाता है? मकर संक्रांति के दिन तिल, गुड़, चावल, मूंगफली, और खीर जैसे परंपरागत भोजन बनाए जाते हैं।

    With the new year, the season of til-gud kicks off across India's kitchens  | Condé Nast Traveller India

मकर संक्रांति का निष्कर्ष

इस ब्लॉग पोस्ट का निष्कर्ष है कि मकर संक्रांति भारतीय समाज में सूर्य के उत्तरायण की खुशी और उत्साह का प्रतीक है। यह त्योहार विभिन्न समुदायों और राज्यों में विभिन्न रूपों में मनाया जाता है और इसके साथ हर क्षेत्र में अपने-अपने परंपरागत रंग होते हैं। मकर संक्रांति भारतीय संस्कृति का हिस्सा है जो समृद्धि, खुशियाँ, और सामरिक सजीवता को प्रोत्साहित करता है।

आपको जानना होने वाली बातें

मकर संक्रांति के दिन, लोग विभिन्न प्रांतों में उत्सवी रूप से मनाते हैं। इस दिन को गीतों, नृत्य, और विभिन्न रंगीन आयोजनों के साथ मनाया जाता है। खासकर उत्तर भारतीय राज्यों में, पतंग उड़ाने का शौक भी इस त्योहार के दौरान देखा जाता है। मकर संक्रांति का त्योहार बच्चों और युवाओं के बीच विशेष रूप से लोकप्रिय है, जिन्हें इसे खेलने के लिए समर्पित होते हैं।

Share This Article
Leave a comment