Blood donation – रक्त दान करने से होने वाले लाभ और उससे जुड़े तथ्य

Blood donation – रक्त दान करने से होने वाले लाभ और उससे जुड़े तथ्य

रक्तदान (Blood donation) के कई फायदे होते हैं। जब आप रक्तदान करते हैं तो आप कैंसर (cancer) के खतरे को दरकिनार कर देते हैं। ऐसा करने से आपको हेमोक्रोमाटोसिस (hemochromatosis) की समस्या का भी सामना करना नहीं पड़ता। इस प्रक्रिया में लिवर और पाचन ग्रंथि (liver and the pancreas) को भी काफी कम नुकसान पहुंचता है।

Blood donation

आपके रक्तदान (Blood donation) करने से दिल का स्वास्थ्य काफी अच्छा रहता है और आपके मोटे होने की संभावना काफी कम हो जाती है। रोज़ाना रक्त का संचार होने से लाखों जानें बच जाती हैं। रक्तदान करना स्वास्थ्य के लिए काफी लाभदायक होता है। यह रक्तदान करने वाले के लिए और मरीज़ के लिए भी काफी अच्छी होती है।

रक्त के संचार की गम्भीरता (The seriousness of blood transfusion Blood donation)

रक्तदान (Blood donation) के मामले को हलके में लेना बिलकुल सही नहीं है। ऐसा किसी डॉक्टरी विशेषज्ञ की देखरेख में ही होना चाहिए। रक्तदान की प्रक्रिया अस्पतालों, क्लिनिक्स (clinics) और ब्लड बैंक्स (blood banks) में ही होनी चाहिए। अगर आपका स्वास्थ्य सही है, तभी आपको रक्तदान करना चाहिए। आगा आपको कोई रक्त आधारित बीमारी है, तो कृपया रक्तदान ना करें।

Blood donation

आपको अपनी बीमारी फैलाने का कोई हक़ नहीं है। रक्त के संचार के पहले आपके लिए एक मेडिकल टेस्ट (medical test) में बैठना अनिवार्य है। इससे यह साबित होगा कि आप रक्तदान (Blood donation) करने योग्य हैं भी या नहीं।

रक्तदान आपकी जान कैसे बचाता है ? (How can Blood donation save you)

रक्तदान (Blood donation) करने से आप मरीजों को कैंसर की भयंकर बीमारी से बचा सकते हैं। रक्तदान उनके लिए भी काफी फायदेमंद हैं जो गंभीर एनीमिया (anemia), रक्त निकलने की समस्या, सिकल सेल एनीमिया (sickle cell amemia) और रक्त की अन्य समस्याओं के शिकार होते हैं। आपके लिए यह जानना काफी ज़रूरी है कि मानव रक्त का निर्माण नहीं किया जा सकता।

ये रक्त सिर्फ एक मनुष्य ही आपको प्रदान कर सकता है। यही कारण है कि लाखों की जान बचाने का रक्तदान (Blood donation) सबसे प्रभावी विकल्प है। हालांकि इसे दोहराने के लिए आपको रक्तदान करने की अपनी योग्यता को प्रमाणित करना पड़ता है।

Blood donation

रक्त जमा करना और स्वास्थ्य की जांच (Blood storage and health check)

आप अपने खून को जमा कर सकते हैं, जिससे कि भविष्य में इसका प्रयोग किया जा सके। अपने खून को एक नामी ब्लड बैंक में जमा करवाएं, जहां वे रक्त को सहेजने की नवीनतम तकनीकों का प्रयोग कर सकें। आपके रक्तदान (Blood donation) करने से पहले एक छोटा सा स्वास्थ्य परीक्षण होता है। इस जांच का मुख्य उद्देश्य यह पता लगाना है कि कहीं आपको कोई संक्रमण या रक्त से जुड़ी बीमारी तो नहीं है।

अगर आप हेपेटाइटिस या एड्स (hepatitis or AIDS) से ग्रसित हैं, तो आपको अपना रक्तदान (Blood donation) करने के बारे में सोचना भी नहीं चाहिए। अगर आपको हाल में ही सर्दी खांसी हुई है जिसके लिए आपने कोई टीका लिया हो, तो रक्तदान करने से पहले अपने डॉक्टर से इस बारे में पूछताछ कर लें। अगर आपको मधुमेह की समस्या है तो आपका रक्तदान करना सही नहीं होगा।

Blood donation

रक्तदान नहीं करने के अन्य कारक (More don’ts of Blood donation or khoon daan)

अगर आप गर्भवती हैं तो आपके लिए रक्तदान करना उचित नहीं होगा। अगर आप रक्तदान करना चाहती हैं तो अपने डॉक्टर से बात करें और उनसे सलाह करके सही निर्णय लें। अगर आप कैंसर के मरीज़ हैं, तब तो निश्चित तौर पर आपको रक्तदान के बारे में सोचना भी नहीं चाहिए। ऐसा होने से आपके शरीर से रक्त में मौजूद दूषित तत्व भी अन्य व्यक्ति के शरीर में जाएंगे।

आपको हेमोक्रोमाटोसिस से बचाए (Saving you from hemochromatosis)

अगर आप हेमोक्रोमाटोसिस की समस्या से ग्रस्त हैं तो आपको रक्तदान (Blood donation) अवश्य करना चाहिए। यह एक स्वास्थ्य समस्या है, जिसके अंतर्गत आपका शरीर अतिरिक्त आयरन (iron) सोख लेता है। यह एक आनुवांशिक बीमारी हो सकती है और आपके ज़रुरत से ज़्यादा शराब पीने की वजह से भी हो सकती है। हेमोक्रोमाटोसिस एनीमिया और अन्य स्वास्थ्य समस्याएं होने की स्थिति में भी हो सकती हैं। एक बार जब आप रक्तदान करना शुरू करते हैं तो आपको आयरन के शरीर में ज़्यादा जमने की समस्या से छुटकारा मिल जाता है। इसके लिए रक्तदान करने वाले व्यक्ति का स्वस्थ रहना काफी आवश्यक है।

Blood donation

स्वस्थ दिल और लिवर के लिए (Having the healthiest heart and liver)

रक्तदान (Blood donation) करने से आपका दिल और लिवर दोनों काफी स्वस्थ रहते हैं। शरीर में आयरन की अतिरिक्त मात्रा हो जाने की वजह से आपका दिल और लिवर अस्वस्थ हो सकते हैं। यही कारण है कि आपको सही समय पर रक्तदान करना चाहिए जिससे कि आपको स्वास्थ्य से जुड़ी कोई समस्या ना हो। अगर आपके शरीर में आयरन की अतिरिक्त मात्रा है तो यह लिवर और किडनी (kidney) में जमा होता रहता है।

यह दिल और पाचन ग्रंथियों में भी जाकर जमा हो जाता है। इसके फलस्वरूप आगे जाकर आपको लिवर खराब होने की समस्या से गुज़रना पड़ता है, जिसे सिरोसिस (cirrhosis) कहा जाता है। एक बार आपके रक्तदान (Blood donation) करना शुरू करने पर आपके शरीर में आयरन का स्तर नियंत्रित हो जाता है और विभिन्न प्रकार की बीमारियों से ग्रस्त होने की आपकी सम्भावनाएं काफी कम हो जाती हैं।

रक्त दान के लाभ हैं रक्तदान से जुड़े तथ्य (Facts related to Blood donation se rakt daan ke labh)

  • एक वयस्क पुरुष / स्त्री में 5-6 लीटर तक रक्त होता है।
  • कोई भी व्यक्ति हर तीन माह में रक्त दान (Blood donation) कर सकता है।
  • रक्त में प्लाज्मा नामक प्रवाही होता है।
  • 450 मि.ली. रक्त से 3 लोगों का जीवन बचाया जा सकता है।
  • रक्त दान के लाभ, हर 2 सेकंड में भारत में किसी न किसी व्यक्ति को रक्त की आवश्यकता होती है।
  • भारत में रक्त दान योग्य व्यक्तियों में सिर्फ 4% ही रक्त दान करते हैं।
  • 75% व्यक्ति वर्ष में एक या दो बार रक्त दान करते हैं।
  • 3 में से 1 व्यक्ति को जीवन में कभी न कभी रक्त की आवश्यकता पड़ती है।
  • रक्त कोशिकाओं के प्रकार:
  • श्वेत रक्त कोशिकाएं जो रोगों से रक्षा करती हैं।
  • प्लेटलेट्स जो रक्त के बहने पर रक्त का थक्का जमा देते हैं।
  • रक्त दान के लाभ, लाल रक्त कोशिकाएं जो फेफड़ों से ऑक्सीजन लेकर प्रत्येक कोशिका में पहुंचाती हैं और कार्बनडाइऑक्साइड को वापस फेफड़ों तक लाती हैं।

रक्त दान के फायदे हैं शरीर का तेज़ी से दोबारा रक्त बनाना (Blood recovery process or khoon dene ke fayde)

  • 24-48 घंटे में पूर्ण मात्रा में प्लाज्मा।
  • लाल रक्त कोशिकाएं – 3 सप्ताह के अन्दर।
  • प्लेटलेट्स एवं हल्की रक्त कणिकाएं –मिनटों में।
  • रक्त दान (Blood donation) के फायदे, रक्तदान पूर्णतः सुरक्षित होता है।
  • रक्त दान के गुण, रक्त दान एक बहुत ही सरल और पुण्य का काम है।
  • (Blood donation) रक्त दान के गुण, रक्त दान में सिर्फ 15-20 मिनट लगते हैं।
  • रक्त दान के फायदे, आप किसी का जीवन बचा सकते हैं रक्त दान करके।

रक्त दान करने के लाभ (Benefits of blood donation)

  • रक्तदान से किसी का जीवन बचाया जा सकता है।
  • नियमित रक्तदान से कुछ बड़ी शारीरिक समस्याओं को कम किया जा सकता है जैसे कोरोनरी ह्रदय रोग,स्ट्रोक, कोलेस्ट्रोल इत्यादि।
  • रक्त दान करने के लाभ, नयी रक्त कोशिकाओं के उत्पादन में वृद्धि।
  • हीमोक्रोमिटोसिस के साथ संपर्क सहज होता है, कैलोरी जलती हैं।
  • नियमित रक्त दान करने वाला व्यक्ति आवश्यकता पड़ने पर सहजता से रक्त पा सकता है।
  • रक्त की जांच की नियमित होते रहती है।
  • समाज के प्रति कर्त्तव्य का निर्वाह होता है।
  • रक्त दान (Blood donation) करने के लाभ, किसी का जीवन बचने की आत्म संतोष की भावना उत्पन्न होती है।
  • रक्त दान (Blood donation) करने के पश्चात अपने नित्य कर्म किये जा सकते हैं।

 

अभी डाउनलोड करे आयुर्वेद स्वस्थ नुस्खे (Ayurvedic Health Tips ) 

FoodFactFun