Curry Leaves – करी पत्ते खाने से होने वाले शरीर में स्वास्थ्य लाभ

Curry Leaves – करी पत्ते खाने से होने वाले शरीर में स्वास्थ्य लाभ

करी पत्ता (Curry Leaves) ज़्यादातर भारतीय सब्जियों में प्रयोग में लाया जाता है। वैसे तो हर भोजन अपनी तय सामग्रियों से बन ही जाता है, परन्तु उनमें करी पत्ते के ना होने से वो स्वाद नहीं आ पाता। ऐसे भी कई लोग हैं जो अपने भोजन में से करी पत्ते निकालकर फेंक देते हैं। पर इन्हें इस तरह फेंकना सही नहीं है, क्योंकि इनमें कई औषधीय गुण पाए जाते हैं।

Curry Leaves

करी पत्तों के स्वास्थ्य लाभ (Health benefits of curry leaves)

कड़ी पत्ता के गुण ये फ्री रेडिकल्स से लड़ने में सहायक (Fights free radicals hai kadi patta ke gun)

चयापचय (मेटाबोलिज्म) की प्रक्रिया के दौरान शरीर में फ्री रेडिकल्स (free radicals) की संख्या बढ़ जाती है, जिससे विभिन्न अंगों को नुकसान पहुँचने का ख़तरा रहता है। इनमें भी सबसे बड़ा नुकसान लीवर (liver) को होता है। आप करी पत्तों का रोजाना सेवन करके शरीर में फ्री रेडिकल्स की संख्या घटा सकते हैं, तथा शरीर के अंगों को इनसे होने वाले नुकसान से भी बचा सकते हैं।

करी पत्ते के फायदे दस्त में (Diarrhoea ke liye curry leaves in hindi)

करी पत्तों में कर्बाजोल अल्कालॉयड (carbazole alkaloids) होते हैं, जो दस्त रोकने में काफी प्रभावशाली साबित होते हैं। आप करी पत्तों का पेस्ट (paste) बनाकर या फिर इनका रस निकालकर इनका सेवन कर सकते हैं।

कड़ी पत्ता के लाभ है आँखों के लिए लाभदायक (Good eye sight hai curry patta ke gun)

करी पत्ते में विटामिन ए (vitamin A) के गुण होते हैं, जो आँखों का स्वास्थ्य सुधारने तथा इसे बरकरार रखने में काफी बड़ी भूमिका निभाती है। अतः अपनी आँखों की सेहत में सुधार लाने के लिए अपने खानपान में ताज़ा करी के पत्ते शामिल करें।

कढ़ी पत्ता के फायदे कोलेस्ट्रोल को नियंत्रित करे (Curry Leaves – Controls cholesterol)

करी पत्तों (Curry Leaves) में मोजूद एंटी ऑक्सीडेंट (antioxidants) की भारी मात्रा खराब कोलेस्ट्रोल के स्तर (bad cholestrol levels) को कम करती है तथा अच्छे कोलेस्ट्रोल के स्तर को बढाने का कार्य करती है। इससे शरीर में कोलेस्ट्रोल की सही मात्रा रहती है और आप दिल की बीमारियों से भी बचे रहते हैं।

Curry Leaves

करी पत्ते के फायदे मधुमेह में (Curry Leaves – Diabetes me curry patta ke labh)

दिन ब दिन मधुमेह के रोगियों की संख्या में काफी इजाफा हो रहा है। इसके कई कारण हैं जैसे गलत खानपान, अस्वस्थ जीवनशैली और अन्य कई आदतें। मधुमेह को खून में ग्लूकोस (glucose) का स्तर नियंत्रित करके काबू में लाया जा सकता है, और इस कार्य को करके करी पत्ते के फायदे अपनी उपयोगिता सिद्ध करते हैं।

करी पत्ते के गुण ये हाजमा सही करने में सहायक (Curry Leaves – Provides good digestion)

इसमें मौजूद विटामिन्स (vitamins), कार्बाजोल अल्कालॉयड तथा एंटी ऑक्सीडेंट की मदद से करी पत्ते हमारी पाचन क्रिया (digestive system) को सुचारू रूप से चलाने में मदद करते हैं तथा हमें पेट की अन्य समस्याओं से भी दूर रखते हैं।

कड़ी पत्ता के लाभ ये पाचन क्रिया में सहायक (Curry Leaves – Helps digestive system)

करी पत्ते के कई फायदों में से एक में यह पाचन क्रिया के एंजाइम्स (enzymes) को बढ़ावा देता है तथा खाने को आसानी से विभक्त करता है।

कैंसर के साइड इफेक्ट्स का उपचार (Treats cancer side effects me curry patta ke fayde)

कैंसर (cancer) के उपचार इस बीमारी को ठीक तो कर देते हैं, परन्तु कीमोथेरेपी (chemotherapy) तथा रेडिएशन थेरेपी (radiation therapy) के रूप में साइड इफ़ेक्ट छोड़ देते हैं। एक शोध के अनुसार करी पत्तों का सेवन करने से ये साइड इफेक्ट्स कम हो जाते हैं।

कढ़ी पत्ता के फायदे बालों की देखभाल में (Hair care ke liye curry leaves in hindi)

समय से पहले बालों को सफ़ेद होने से रोकने के लिए करी पत्ते (Curry Leaves) सबसे अच्छे विकल्प हैं। करी पत्तों को कच्चा भी खाया जा सकता है। अगर आप इन्हें कच्चा नहीं खा सकते तो इन्हें नमक और अन्य ज़रूरी चीज़ें मिलाकर पीस दें तथा इसका महीन पाउडर (powder) बना दें। आप इसे चावल के साथ या इडली और दोसे जैसे नाश्ते के साथ प्रयोग में ला सकते हैं।

Curry Leaves

करी पत्ता के लाभ ये बालों का टॉनिक (Hair tonic hai kari patta balo ke liye)

करी पत्ता (Curry Leaves) के फायदे में बालों का झडना रोकने तथा जडें मज़बूत करने के लिए करी पत्तों को तेल में मिलाएं तथा इसे 10 मिनट तक उबालें। इसे सामान्य तेल की तरह बालों में लगाएं और धो लें।

बदहजमी और मतली का उपचार (Curry leaves to treat indigestion and nausea)

बदहजमी तथा मतली से छुटकारा पाने के लिए करी पत्तों (Curry Leaves) को पीसकर इनका रस निकालें, इसमें थोड़ी चीनी और नींबू के रस की कुछ बूँदें मिलाएं। यह हाजमे की समस्या को दूर करने के साथ आपको आराम देता है। आप बटरमिल्क (butter milk) में भी करी पत्ते मिलाकर ये विधि अपना सकते हैं।

करी पत्ते के गुण ये वज़न घटाने वालों की पसंद (Curry LeavesDieters choice)

करी पत्तों (Curry Leaves) को चबाकर आप अपना वज़न भी घटा सकते हैं। तो अगर आप उन लोगों में से है, जिन्हें अपना वज़न बढ़ने की चिंता सता रही है, तो आज ही करी पत्ते चबाना शुरू करें और वज़न पर नियंत्रण पाएं।