Kismis ke fayde- सुबह खाली पेट भीगे किशमिश खाने के स्वास्थ्य लाभ

kajal bajaj
7 Min Read

Kismis ke fayde – सुबह खाली पेट भीगे किशमिश खाने के स्वास्थ्य लाभ

लोग किशमिश (सुबह खाली पेट किशमिश खाने के फायदे) (Kismis ke fayde)को मेवा के रूप में प्रसाद के तौर पर ही खाते है या फिर कुछ लोग स्वाद के लिए भी खाते हैं।

आपने भी देखा होगा कि लोग किशमिश को भिगोकर उसका पानी पीते है और किशिमिश को सुबह खाली पेट खा लेते है। आज कल की व्यस्त लाइफ के चलते हर कोई किसी ना किसी बीमारी से पीड़ित रहता है।

PREMIUM QUALITY BIG KISHMISH (RAISINS) 500 GRAM – India4Local

pahle आज हम बात करेंगे किशमिश के बारे में आपको लगता होगा किशमिश बनाना आसान है या मुश्किल या किशमिश कहीं पेड़ पर लगती है यह कोई फाइल है ऐसे मशीन से बनाया जाता है इसके बारे में पूरी जानकारी |

आज हम इस ब्लॉग में पड़ेंगे चाहे चलिए सबसे पहले शुरुआत करते हैं किशमिश के बारे में जानकर

किशमिश बनाने की विधि

सबसे पहले आप अंगूरों को अच्छे से साफ पानी से धो लीजिए अंगूर साफ हो जाने के बाद हम उसे उबालने के लिए रखेंगे ऐसे अगर आप 1 किलो अंगूर की कृष्ण जब आना चाहते हैं |

तो आपको चार से पांच गिलास पानी की जरूरत होगी और अगर आप आधा किलो अंगूर का किशमिश बनाना चाहते हैं तो आपको लगभग उसका आधा पानी ले लेना पड़ेगा

उबलते हुए पानी में अंगूरों को डालने के बाद जैसे ही अंगूर पकने लगेगा ऊपर तैरना शुरू हो जाएगा और उसकी परत कुछ चटकने लगेगी और वह फूटने लगेगा |

पानी में अब आप अंगूरों को अलग कर लीजिए छलनी से छान लीजिए और उनको एक सूखे कपड़े में रख दीजिए थोड़ी देर के लिए और अब इन अंगूरों को आप धूप में रख सकते हैं |

अगर सर्दियों की बात है तो उसे 4 से 5 दिन धूप में रखना पड़ेगा गर्मियों में वही 1 से 2 दिन में यह किसमिस बनकर तैयार हो जाएंगे

किशमिश कितने प्रकार की होती है?

किशमिश कई प्रकार की होती हैं, जिनमें से मुख्य तीन को हम नीचे बता रहे हैं –

भूरी किशमिश – यह किशमिश अंगूरों को तीन हफ्तों तक सुखाकर बनाई जाती है। सूखने के बाद इनका रंग भूरा हो सकता है। अलग-अलग जगहों पर इसे बनाने के लिए विभिन्न तरह के अंगूरों का इस्तेमाल किया जाता है। इनका रंग, आकार और स्वाद अंगूर के प्रकार पर निर्भर करता है।

सुल्ताना (गोल्डन किशमिश) – यह किशमिश सुल्ताना अंगूर (बीज रहित हरे गोल अंगूर) को सुखाकर बनाई जाती है।

इस प्रकार की किशमिश को बनाने के लिए सुखाने से पहले अंगूर को एक तरह के तैलीय सलूशन में भिगोया जाता है।

इस कारण इस किशमिश का रंग गोल्डन/हल्का भूरा होता है।

बाकी दो किशमिश की तुलना में इस किशमिश का आकार अक्सर छोटा और स्वाद मीठा होता है।

करंट (काली किशमिश) – इस प्रकार की किशमिश को जांटे करंट भी कहा जाता है और इन्हें काले अंगूर से बनाया जाता है।

इन्हें भी अंगूर को तीन हफ्तों तक सुखाकर बनाया जाता है। इनका स्वाद अक्सर खट्टा-मीठा और आकर छोटा होता है।

अन्य अंगूर की तरह ब्लैक किशमिश खाने का फायदा क्या है, इस बारे में आगे विस्तार से बताया गया है।

पोषण से भरपूर किशमिश

किशमिश में पोटैशियम, आयरन, बी-कॉम्प्लेक्स विटामिन्स, और एंटीऑक्सीडेंट्स भरपूर मात्रा में होते हैं। ये हमारे शरीर के लिए आवश्यक होते हैं और सेहत के लाभ के साथ-साथ उम्र के प्रभावों से भी बचाव करते हैं।

भीगे किशमिश के फायदे

किशमिश को भिगोकर खाना एक और बेहतरीन तकनीक है जो इसके पोषण को आपके शरीर में सुरक्षित तरीके से पहुंचाने में मदद करती है। यह नाभि में रहे गुठलियों को शक्ति प्रदान करने के लिए अद्वितीय तरीके से काम करता है और पाचन क्रिया को सुधारने में भी मदद कर सकता है।

किशमिश का सेहत के लिए और भी बहुत फायदेमंद तरीका

किशमिश को खाने से त्वचा को भी बहुत लाभ होता है। इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स हमारी त्वचा को रूखापन से बचाते हैं और उसे नरम बनाए रखने में मदद करते हैं। साथ ही, यह हमें विभिन्न त्वचा समस्याओं से निजात पाने में भी सहायक हो सकता है।

सुबह किशमिश खाने के लिए सबसे अच्छा समय

किशमिश को सुबह खाली पेट भीगे हुए खाना सबसे फायदेमंद है क्योंकि इस समय आपके शरीर में इसके पोषण को सुरक्षित तरीके से अवशोषित किया जा सकता है और आपको इसके सभी लाभ मिल सकते हैं। इससे आपका दिन स्वस्थ और ऊर्जावान होगा।

किशमिश को आपके आहार में शामिल करें

इस लेख के अंत में, हम आपको यह सुझाव देंगे कि कैसे आप अपने आहार में किशमिश को शामिल कर सकते हैं। हम विभिन्न स्वादिष्ट रेसिपीज़ और इन्हें खाने के सरल तरीकों के साथ आपको इसमें रुचि लेने के लिए प्रेरित करेंगे।

सावधानियाँ और विचार

किशमिश का अधिशेष सेवन करने से बचें और अगर आपमें इसके प्रति किसी भी प्रकार की एलर्जी है तो तत्पर रहें। हमेशा एक स्वास्थ्य विशेषज्ञ से सलाह लें।

किशमिश: सच या झूठ?

किशमिश के बारे में कुछ आम धारणाएं हैं जो लोगों के बीच में प्रचलित हैं। इस खंड में, हम इन धारणाओं को खंडन करेंगे और आपको सच्चाई बताएंगे।

सफलता की कहानियां और प्रशंसापत्र

यहां कुछ लोग हैं जिन्होंने रोज़ाना किशमिश का सेवन किया और उन्होंने कैसे अपने स्वास्थ्य में सुधार देखा है। इन कहानियों से आपको प्रेरणा मिलेगी कि कैसे आप भी इसे आजमा सकते हैं।

निष्कर्ष

सुबह खाली पेट भीगे हुए किशमिश का सेवन करना आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद हो सकता है। इसे अपने दिनचर्या में शामिल करके आप न सिर्फ सेहतमंद रह सकते हैं, बल्कि आपकी त्वचा और मानसिक स्वास्थ्य को भी बेहतर बना सकते

Share This Article
Leave a comment