Bee Sting – मधुमक्खी के डंक के दर्द से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय

Bee Sting – मधुमक्खी के डंक के दर्द से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय

गर्मी एक ऐसा मौसम है, जिस समय लोग बगीचे में या बाहर रहते हुए मधुमक्खी के डंक (Bee Sting) का शिकार हो सकते हैं। मधुमक्खी का काटा अर्थात डंक काफी दर्दनाक होता है और इसका दर्द कई घंटों तक भी रह सकता है। मधुमक्खी के काटने के बाद प्रभावित भाग काला पड़ जाता है, जिसे ट्वीज़र (tweezer) से तुरंत निकाला जाना काफी आवश्यक है। इसके अलावा प्रभावित भाग को पानी से साफ़ करना भी ज़रूरी है, जिससे ज़हर को फैलने से रोका जा सके। नीचे मधुमक्खी के डंक से छुटकारा पाने के कुछ उपाय बताये जा रहे हैं।

Bee Sting

1. डंक निकालें (Bee Sting – Remove the stinger) 

जितनी जल्दी हो सके ज़हरीले डंक को निकाल दें जिससे कि और ज़्यादा दर्द या किसी प्रकार की एलर्जी न हो

2. लक्षण (Bee Sting – Symptoms) 

कुछ लक्षणों की जांच करें जैसे सांस लेने में तकलीफ, लालपन, रैशेस, त्वचा, गले या मुंह पर सूजन। ऐसे लक्षणों की स्थिति में डॉक्टरी जांच करवाएं।

3. प्रभावित जगह को साफ़ करें (Bee Sting – Cleanse the area) 

किसी भी तरह के उपचार से पहले प्रभावित भाग को साबुन और पानी से साफ़ करें।

4. बर्फ (Bee Sting – Ice) 

एक तौलिये में कुछ बर्फ के टुकड़े लें तथा मधुमक्खी के काटे हुए भाग पर 20 मिनट तक रखें। इसकी ठंडक से रक्त वाहिकाएं सिकुड़ जाएंगी तथा दर्द और खुजली का अहसास नहीं होगा।

5. टूथपेस्ट (Bee Sting – Toothpaste) 

 प्रभावित भाग पर काफी मात्रा में टूथपेस्ट लगाएं तथा इसे ऎसे ही रहने दें। इससे डंक के दर्द से राहत मिलेगी।

6. बेकिंग सोडा, सिरका और मांस नरम करने का यंत्र (Baking soda, vinegar and meat tenderizer

 इन तीनों उत्पादों को मिलाकर एक महीन पेस्ट बनाएं और डंक पर अच्छे से लगाएं। मांस नरम करने वाले यंत्र में पपेन नामक एंजाइम होता है जो मधुमक्खी के डंक को ख़त्म कर देता है। इस मिश्रण को 20 मिनट तक रखें और एक घंटे में मधुमक्खी का डंक ठीक हो जाएगा।

7. कैलामिन लोशन (Bee Sting – Calamine lotion

प्रभावित भाग पर कैलामिन लोशन लगाएं क्योंकि इससे डंक कम हो जाएगा। इसे 45 मिनट तक छोड़ दें और चार घंटे बाद इसे दोबारा लगाएं।

8. हाइड्रोकॉर्टिसोन क्रीम (Bee Sting – Hydrocortisone cream

आप प्रभावित भाग पर हाइड्रोकॉर्टोसोन क्रीम को एक बार लगा सकते हैं। इसे 30 मिनट के लिए छोड़ दें।

9. शहद (Bee Sting – Honey)  

शहद को मधुमक्खी के डंक पर लगाने से डंक से राहत मिलती है। इसे प्रभावित भाग पर 30 मिनट तक रखें।

10. एप्सोन नमक (Bee Sting – Epson salt) 

एप्सोन नमक को पानी में मिलाकर महीन पेस्ट बनाएं। इस पेस्ट को प्रभावित भाग पर अच्छे से लगाएं और कुछ देर तक छोड़ दें। अगर फिर भी इसके लक्षण दिखे तो इसे दोबारा लगाएं।

11. अजमोद (Bee Sting – Parsley

ताज़ा अजमोद लें और इसे मसल लें। अब इसे डंक वाले भाग पर लगाएं और 30 मिनट तक छोड़ दें।

12. तुलसी (Bee Sting – Basil)

 कुछ ताज़े तुलसी के पत्तों को मसलें और इसे प्रभावित भाग पर कुछ देर लगाकर रखें।

13. बेंजोकाइन स्टिक (Bee Sting – Benzocaine stick) 

बेंजोकाइन स्टिक कहीं ले जाने में आसान है पर इसका असर थोड़ा धीरे होगा।

14. डिओड्रेंट (Bee Sting – Deodorant) 

प्रभावित भाग पर डिओड्रेंट लगाएं। इससे आराम तो मिलता है पर आसपास का भाग काफी खराब हो जाता है।

Bee Sting

मधुमक्खी के डंक का दर्द दूर करने के नुस्खे (Remedies for honey Bee Sting – madhumakhi kate to kya kare)

मधुमक्खी के काटने पर सेब का सिरका (Bee Sting – Apple cider vinegar)

यह उपचार सालों से मधुमक्खी के डंक से निपटने का काफी प्रभावशाली नुस्खा साबित होता रहा है। इसका प्रयोग प्रभावित जगह पर करने से थोड़ी सी जलन अवश्य होती है, पर कुछ सेकंड के बाद ही आपको इस दर्द से पूरी तरह छुटकारा प्राप्त हो जाता है।

लहसुन के फाहे (Bee Sting – Garlic cloves)

लहसुन के फाहों को पीस लें तथा इसके रस को निकालकर मधुमक्खी की काटी हुई प्रभावित जगह पर अच्छे से लगा लें। इस रस को प्रभावित भाग पर लगाने के लिए रुई के कपड़े का प्रयोग करें और इसे डंक पर तब तक दबाकर रखें, जब तक दर्द कम ना हो जाए और सूजन पूरी तरह ठीक ना हो जाए।

मधुमक्खी के काटने का इलाज कीचड़ से (Mud se madhumakhi katne ka gharelu upchar)

कीचड़ का प्रयोग मधुमक्खी के डंक के उपचार के तौर पर सदियों से किया जाता रहा है, और गाँव देहात में आज भी इस विधि से मधुमक्खी के डंक का इलाज किया जाता है। खेतों और बगीचों में काम करने वाले लोगों के लिए कीचड़ ही डंक के फलस्वरूप पैदा हुई सूजन और डंक के दर्द से राहत प्राप्त करने का एक एकलौता तरीका साबित होता है।

पानी और कीचड़ का एक लेप (paste) बनाएं और इसे सीधे मधुमक्खी के काटे हुए प्रभावित भाग पर लगाएं। इसके बाद कुछ देर के लिए इसे सूखने के लिए छोड़ दें। एक बार जब आपकी सूजन और दर्द की मात्रा में कमी आ जाए तो इस भाग को अच्छे से साफ़ कर लें।

मधुमक्खी के काटने का इलाज तम्बाकू से (Bee Sting – Tobacco)

मधुमक्खी के काटने पर क्या करें, भले ही तम्बाकू हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी हानिकारक होती है, पर इसमें भी कई प्रकार के स्वास्थ्यकर गुण होते हैं। किसी सिगरेट (cigarette) या डिब्बे से ढीली तम्बाकू लें तथा इसका प्रयोग प्रभावित भाग पर करें। इसे डंक पर काफी जोर से तब तक दबाकर रखें, जब तक आपको दर्द तथा सूजन से छुटकारा प्राप्त नहीं हो जाता।

लैवेंडर का तेल (Bee Sting – Lavender essential oil)

मधुमक्खी के काटने पर क्या करें, लैवेंडर के तेल को आसानी से मधुमक्खी के काटे हुए घाव पर लगाया जा सकता है। इससे आपको तुरंत मधुमक्खी के विष को कुंद करने में मदद मिलेगी।

मधुमक्खी के काटने का इलाज केला से (Bee Sting – Plantain)

यहाँ फल की बात नहीं हो रही, बल्कि उस चौड़े तथा लम्बे पत्ते का वर्णन किया गया है, जो एक सामान्य वीड (weed) है तथा आमतौर पर खुरदुरी भूमि पर या दीवारों की दरारों में उगता हुआ पाया जाता है। यह पौधा सुन्दर पर्पल (purple) रंग का होता है तथा इसकी पत्तियाँ छोटे और हरे गुलाब की तरह प्रतीत होती हैं।

इन पत्तियों से निकाला गया रस मधुमक्खी के डंक का काफी बेहतरीन उपचार सिद्ध होता है। आप इस रसभरी पत्ती को डंक पर दबाकर रख सकते हैं तथा इसके बाद इसपर आधे घंटे के लिए पट्टी बांधकर इसे छोड़ दें।

मांस नर्म करने वाला (Bee Sting – Meat tenderizer)

आप इसका प्रयोग भी मधुमक्खी की डंक का प्रभाव दूर करने के लिए कर सकते हैं। मीट टेंडराईज़र और पानी को मिश्रित करके एक पेस्ट (paste) तैयार करें और इसे अपने घाव पर लगाएं। इसे करीब 20 मिनट तक ढककर रखें।

मधुमक्खी का मलहम (Madhumakhi ke dank ka ilaj bee balm se)

यह एक प्रकार की जड़ीबूटी है, जिसमें मधुमक्खी के डंक को ठीक करने के गुण होते हैं। बी बाम की पत्तियों को मसलकर मधुमक्खी के डंक वाली जगह पर अच्छे से लगाएं। इससे आपको डंक से होने वाली सूजन और पीड़ा से तुरंत राहत मिल जाएगी।

मधुमक्खी के काटने का इलाज ज्वेलवीड से (Bee Sting – Jewelweed)

यह एक और प्रभावी पौधा है, जिसका प्रयोग करके मधुमक्खी के डंक से होने वाले लक्षणों पर काबू पाया जा सकता है। ज्वेलवीड की पत्तियों को पीस लें तथा इसके रस को डंक से प्रभावित भाग पर लगाएं। इससे डंक का प्रभाव काफी कम हो जाएगा।

Bee Sting