कपूर के फायदे – Incredible Benefits of Camphor (Kapoor) in Hindi

Kapoor Benefits in Hindi कपूर का उपयोग केवल पूजन के लिए नहीं किया जाता है बल्कि कपूर में कई ऐसे औषधीय गुण होते है जो इसे आयुर्वेदिक औषधी बनाते है, सुंदर और गोरी त्वचा हर किसी का सपना होता है।

और इसे प्राप्त करने के लिए हम ना जाने कितने प्रयत्न करते हैं, लेकिन आपको यह जान कर हैरानी होगी कि हमारी सुंदरता को बढ़ाने के लिए कपूर के अनेक फायदे हैं।

यह आपकी त्वचा, बाल और स्‍वास्‍थ्‍य के लिए गुणकारी होता है। इसमें उपस्थित पोषक तत्व हमारे स्‍वास्‍थ्‍य के लिए भी लाभकारी होते है। कपूर में एंटीबैक्‍टीरियल, एंटीऑक्‍सीडेंट (Anti-oxidant) गुण होते है।

कपूर उड़नशील वानस्पतिक द्रव्य है। यह सफेद रंग का मोम की तरह का पदार्थ है। इसमे एक तीखी
गंध होती है। कपूर को संस्कृत में कर्पूर, फारसी में काफ़ूर और अंग्रेजी में कैंफ़र कहते हैं।कपूर के फायदे

अक्सर हर घर में पूजा-पाठ, हवन-आरती में कपूर का प्रयोग तो होता ही है, लेकिन इसके अलावा भी कपूर कई तरह से उपयोगी है। एंटीबायोटिक और एंटीफंगल गुण के कारण कपूर हमारी सेहत और ब्यूटी के लिए भी बेहद फायदेमंद है।

कपूर के फायदे शरीर तथा दिमाग दोनों को दुरुस्त रखने में मददगार होता है। जोड़ों के दर्द, जलने-कटने तथा अन्य कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं के लिए कपूर लाभकारी प्राकृतिक औषधि है। आज हम कपूर के विभिन्न फायदों के बारे में बात करेंगे।


कपूर और कपूर का तेल दोनों ही हमारे लिए बहुत काम की चीज है। आइए जानते हैं इसके फायदों के बारे में:-

चीनी अथवा जापानी कपूर – Chinese or Japanese camphor in Hindi

यह जिस वृक्ष से प्राप्त किया जाता है उसे सिनामोमस कैफ़ोरा (Cinnamomum camphora) कहते हैं। यह वृक्ष चीन, तथा जापान में पाया जाता है।

भारत में यह देहरादून, सहारनपुर, नीलगिरि तथा मैसूर आदि जगहों में पाया जाता है।

भारतीय कर्पूर के पेड़ छोटे, उनकी पत्तियाँ ढाई से चार इंच लंबी, आधार से कुछ ऊपर तीन मुख्य शिराओं वाली, लम्बी और मसलने पर कपूर की तरह गंधवाली होती हैं।

कपूर के फूल सफेद, और सुन्दर होते हैं। जापान में लगभग 50 वर्ष पुराने वृक्षों के लकड़ी के आसवन (distillation) से कपूर प्राप्त किया जाता है। किंतु भारत में यह पत्तियों से ही प्राप्त किया जाता है।

भीमसेनी कपूर – Bhimseni Kapur in Hindi

जिस पेड़ से यह प्राप्त होता है उसे ड्रायोबैलानॉप्स ऐरोमैटिका (Dryobalanops aromatica) कहते हैं। जो सुमात्रा तथा बोर्निओ आदि में स्वत: उत्पन्न होता है।

इस पेड़ की लकड़ी में जहाँ चीरे पड़े रहते हैं वहीं कपूर पाया जाता है।

यह सफेद एवं अर्धपारदर्शक टुकड़ों में चिपका रहता है और खुरचकर लकड़ी से निकाला जाता है। इसलिए इसे प्राकृतिक कपूर, देशी कपूर या अपक्व कपूर कहा जाता है।

यह अनेक बातों में जापानी कपूर से मिलता है और उसी के समान चिकित्सा में इसका उपयोग किया जाता है।

इसकी मुख्य विशेषता यह है कि यह पानी में डालने पर नीचे बैठ जाता है। आयुर्वेदीय चिकित्सा में यह अधिक गुणवान भी माना गया है।

हिंदुस्तानी अथवा पत्री कपूर – Hindustani or Patri Kapoor in Hindi

भारत में कंपोज़िटी (Compositae) कुल की कुकरौंधा प्रजातियों (Blumea species) से प्राप्त किया जाता है, जो पत्तेदार शाक जाति की वनस्पतियाँ होती हैं।

कपूर के फायदे और नुकसान – kapoor ke Fayde aur nuksan in Hindi

अपने पोषक तत्‍वों के कारण कपूर हमारे स्‍वास्‍थ्‍य के साथ-साथ सौंदर्य को भी बढ़ाने में मदद करता है।

इस लेख में आप जानेगें कि क्‍यों कपूर को त्‍वचा और बालों के उत्‍पादों में जगह मिलती है और कैसे इसके इस्तेमाल से कई स्‍वास्‍थ्‍य समस्याओं से राहत मिलती है।

कपूर के तेल के 6 जादुई फायदे:-

  1. एक टब में गुनगुना पानी लें और उसमें थोड़ा कपूर का तेल डालें। इसमें पैरों केा डुबोकर बैठने से आपकी एड़ियां साफ हो जाएंगी और फटी एड़ियां भी जल्दी ठीक हो जाएंगी।
  2. पैरों में लगे इंफेक्शन या फंगस को भी यह दूर करता है। वहीं, पैरों के दर्द में भी राहत मिलेगी।

2. बाल झड़ने और डैंड्रफ की समस्या में कपूर के तेल से मसाज करना फायदेमंद होता है। गंजेपन की समस्या में भी कपूर का तेल बालों के दोबारा उगने में मदद करता है।

कपूर का तेल बालों में लगाने से बाल जल्दी बढ़ने लगते हैं। इसके लिए कपूर का तेल दही में मिलाकर बालों की जड़ों में लगाएं और आधे-एक घंटे बाद बाल धो लें। कपूर के फायदे

3. शरीर के अंदरुनी दर्द में भी कपूर का तेल एक असरदार औषधि है। शरीर के जिस भी भाग में दर्द हो, वहां कपूर का तेल हल्का गुनगुना कर उससे मसाज करने पर बहुत राहत मिलती है।

4. आपकी त्वचा में यदि कोई जले या कटे का निशान हो तो उस हिस्से पर कपूर का तेल से निशान हल्के होते चले जाएंगे और धीरेे—धीरे गायब हो जाएंगे।

त्वचा की अन्य प्रकार की समस्याओं में भी कपूर का तेल फायदेमंद होता है। यह आपको साफ, स्वस्थ, चिकनी और बेदाग त्वचा देता है।

5. कपूर का तेल बाजार में आसानी से उपलब्ध होता है। आप चाहें तो इसे घर पर भी तैयार कर सकते हैं। इसे घर पर बनाने के लिए नारियल के तेल में कपूर के कुछ टुकड़े डालें और किसी एयरटाइट डिब्बे में भरकर रख दें।

कपूर के गुणों को अवशोषित कर लेने के बाद कपूर का तेल तैयार हो जाएगा। कपूर के फायदे

6. सर्दियों में जुकाम हो जाना बहुत आम है। ऐसे में बंद नाक, सांस लेने में तकलीफ और छींक आने जैसी समस्याएं परेशान करती हैं।

कपूर इस समस्या से निजात दिलाने वाला बेहतरीन उपाय है। इसके लिए एक बड़े कटोरे में पानी गर्म कीजिए और इसमें कपूर का एक टुकड़ा मिलाइए। अब अपने सिर और कटोरे को तौलिए से ऐसे ढंकिए कि स्टीम बाहर ना जाने पाए। अब इस भाप को नाक के रास्ते अंदर खींचिए।

कपूर के फायदे

कपूर के फायदे:-

बालों के न बढ़ने के कई कारण हो सकते हैं, लेकिन कपूर के तेल से इस समस्या से आसानी से निपटा जा सकता है।

इसके लिए बालों वाले तेल में कपूर के तेल को मिलाइए और लगाइए। इससे सिर की त्वचा में रक्त प्रवाह बढ़ता है, जो कि बालों की वृद्धि में मदद करता है।

डेंगू मच्छरों के काटने से होने वाला एक घातक रोग है।

इससे बचने के लिए जरूरी है कि मच्छरों से बचाव किया जाए।

कपूर मच्छरों को भगाने के लिए बेहतरीन उपाय है। इसके लिए कमरे में कपूर को जलाकर सारे खिड़की और दरवाजे बंद कर दें।

यह कमरे के कोने में छिपे मच्छरों को मारने में मदद करता है और मलेरिया तथा डेंगू जैसी घातक बीमारियों से बचाता है।

मुँहासों के इलाज में कपूर के फायदे – Camphor For Cures Acne in Hindi

औषधीय गुणों वाले कपूर का उपयोग कर आप जिद्दी मुँहासों (stubborn acne) से छुटकारा पा सकते हैं। यह आपके मुँहासे के लिए एक उत्‍कृष्‍ट उपाय माना जाता है। क्‍योंकि यह लाली और जलन (redness and irritation) को कम कर देता है।

कपूर की मदद से आप अपनी खूबसूरत (flawless and blemish-free) त्वचा वापस पा सकते हैं। कपूर एंटीआक्‍सीडेंट गुणों से भरपूर होता हैं यह फुंसी और मुंहासों को होने से रोकने में मदद करते हैं।

कपूर के लाभ फटी एड़ियों को करें ठीक – Camphor Good for Cracked Hells in Hindi

क्‍या आप अपनी फटी ए‍ड़ीयों (cracked heel) को छिपाने के लिए कई प्रकार के जूते और मोजे का उपयोग करते हैं।

इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कितने अच्‍छे कपड़े पहने हुए हैं, फटी एड़ीया आपके आत्‍मविश्‍वास को कम कर सकती है। लेकिन कपूर (camphor) आपकी फटी एड़ीयों को ठीक कर सकता है।

फटी एड़ियों से राहत के लिए, आपको अपने पैरों को कपूर और पानी के मिश्रण में भिगोना होगा और फिर पैरों को साफ करना होगा।

इसके बाद आप उन पर एक क्रीम माइस्‍चराइजर (moisturizer) या पेट्रोलियम जेली लगा सकते हैं। यह आपकी त्‍वचा को नम रखेगा और दरारें होने से रोक देगा।

कपूर की एंटीसेप्टिक और शीतलता वाले (antiseptic and cooling) गुण क्रैक एड़ीयों के उपचार में फायदेमंद होते है।

नारियल तेल और कपूर के फायदे संक्रमण दूर करने में –  kapoor and coconut oil for Infection in Hindi

ठंडा और शांत प्रभाव के कारण कपूर का उपयोग कई त्वचा से सम्बंधित समस्याओं को दूर करने में किया जाता है।

कपूर फंगल और बैक्‍टीरिया संक्रमण (bacterial infection) के उपचार के लिए लाभकारी होता है।

कपूर तेल के फायदे बालों को मजबूत करने में  – Camphor for Strengthens Hair Roots in Hindi

बालों का गिरना अधिकतर लोगों की समस्या है।

कपूर के तेल (camphor Oil) का उपयोग बालों को नुकसान पहुंचाए बिना इनके गिरने की दर को कम कर सकता है।

कपूर का तेल बालों की जड़ो को मजबूत करता है।

कपूर के तल के साथ अंडे या दही का उपयोग आपके बालों की आवश्यक पोषक तत्वों की कमी को पूरा करता है।

कपूर तेल न केवल बाल विकास को बढ़ावा देता है, बल्कि यह बालों का झड़ना (fight hair-loos) भी कम करता है।

दिमाग शांत करता है कपूर, और भी हैं कई फायदे

कपूर शरीर तथा दिमाग दोनों को दुरुस्त रखने में मददगार होता है।

जोड़ों के दर्द, जलने-कटने तथा अन्य कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं के लिए कपूर लाभकारी प्राकृतिक औषधि है। आज हम कपूर के विभिन्न फायदों के बारे में बात करेंगे

प्रतीकात्मक चित्रकपूर का हिंदू परंपरा में धार्मिक महत्व है। यह पूजन-पद्धतियों का महत्वपूर्ण हिस्सा होता है।

सर्दी के मौसम में पुराने ऊनी कपड़ों को कीड़ों आदि से सुरक्षित रखने के लिए भी कपूर का प्रयोग किया जाता है।

इन सबके अलावा कपूर के बहुत-से औषधीय गुण भी होते हैं। यह शरीर तथा दिमाग दोनों को दुरुस्त रखने में मददगार होता है।

जोड़ों के दर्द, जलने-कटने तथा अन्य कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं के लिए कपूर लाभकारी प्राकृतिक औषधि है। आज हम कपूर के विभिन्न फायदों के बारे में बात करेंगे।

बाल बढ़ाने में मददगार

बालों के न बढ़ने के कई कारण हो सकते हैं, लेकिन कपूर के तेल से इस समस्या से आसानी से निपटा जा सकता है।

इसके लिए बालों वाले तेल में कपूर के तेल को मिलाइए और लगाइए। इससे सिर की त्वचा में रक्त प्रवाह बढ़ता है, जो कि बालों की वृद्धि में मदद करता है।

मच्छरों से बचाए
डेंगू मच्छरों के काटने से होने वाला एक घातक रोग है। इससे बचने के लिए जरूरी है कि मच्छरों से बचाव किया जाए।

कपूर मच्छरों को भगाने के लिए बेहतरीन उपाय है। इसके लिए कमरे में कपूर को जलाकर सारे खिड़की और दरवाजे बंद कर दें।

यह कमरे के कोने में छिपे मच्छरों को मारने में मदद करता है और मलेरिया तथा डेंगू जैसी घातक बीमारियों से बचाता है।

दिमाग को रखे शांत
नींद न आना आजकल की आम समस्याओं में से एक है। कपूर के तेल की खूशबू दिमाग को शांत रखने और बेहतर नींद लाने में असरदार है।

इसके लिए कपूर के तेल की कुछ बूंदों को अपने तकिए पर लगाएं और आराम की नींद सोएं।

बंद नाक खोले
सर्दियों में जुकाम हो जाना बहुत आम है। ऐसे में बंद नाक, सांस लेने में तकलीफ और छींक आने जैसी समस्याएं परेशान करती हैं।

कपूर इस समस्या से निजात दिलाने वाला बेहतरीन उपाय है। इसके लिए एक बड़े कटोरे में पानी गर्म कीजिए और इसमें कपूर का एक टुकड़ा मिलाइए।

अब अपने सिर और कटोरे को तौलिए से ऐसे ढंकिए कि स्टीम बाहर ना जाने पाए। अब इस भाप को नाक के रास्ते अंदर खींचिए।

खाज से दिलाए छुटकारा
खाज की वजह से त्वचा लाल पड़ जाती है। इससे निपटने के लिए कपूर के तेल को पानी में मिलाकर प्रभावित जगह पर लगाइए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *