सफेद तिल के हैरान कर देने वाले फायदे

सफेद तिल के हैरान कर देने वाले फायदे

सर्दी मे तिल खाने की सलाह सब देते हैं पर क्या आप जानते हैं कि ऐसा क्यों कहा जाता हैं तिल शरीर को गर्माहट देता है. इस वजह से ठंड के मौसम में इसका प्रयोग खूब होता है, इसका प्रयोग खाने के साथ तेल के रूप में भी किया जाता है. खेतिहर किसानों के साथ दुकानों पर भी यह आसानी से मिल जाता है.

तिल में मोनो-सैचुरेटेड फैटी एसिड होता है जो शरीर से कोलेस्ट्रोल को कम करता है दिल से जुड़ी बीमारियों के लिए भी यह बेहद फायदेमंद है.

शोध बताते हैं  तिल में सेसमीन नाम का एन्टीऑक्सिडेंट पाया जाता है  जो कैंसर कोशिकाओं को बढ़ने से रोकता है.

यही वजह है कि इसे लंग कैंसर, पेट के कैंसर, ल्यूकेमिया, प्रोस्टेट कैंसर, ब्रेस्ट कैंसर होने की आशंका को कम करता है.  यूं तो तिल 3 तरह का होता है  सफेद, काला, लाल. यहां हम आपको सफेद तिल के फायदों के बारे में बता रहे हैं.

तिल खाने के फायदे

  • तिल में कई तरह के लवण जैसे कैल्श‍ियम, आयरन, मैग्नीशियम, जिंक और सेलेनियम होते हैं जो हृदय की मांसपेशि‍यों को सक्रिय रूप से काम करने में मदद करते हैं.
  • तिल का प्रयोग बालों के लिए वरदान साबित हो सकता है. तिल के तेल का प्रयोग या फिर प्रतिदिन थोड़ी मात्रा में तिल को खाने से, बालों का असमय पकना और झड़ना बंद हो जाता है.
  • तिल में डाइट्री प्रोटीन और एमिनो एसिड मौजूद होते हैं जो बच्चों की हड्डियों के विकास को बढ़ावा देते हैं. इसके अलावा यह मांस-पेशियों के लिए भी बहुत फायदेमंद है.
  • तिल का उपयोग चेहरे पर निखार के लिए भी किया जाता है. तिल को दूध में भिगोकर उसका पेस्ट चेहरे पर लगाने से चेहरे पर प्राकृतिक चमक आती है, और रंग भी निखरता है.
  •  तिल का तेल त्वचा के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है. इसकी मदद से त्वचा को जरूरी पोषण मिलता है और इसमें नमी बरकरार रहती है.
  • तिल को कूटकर खाने से कब्ज की समस्या नहीं होती, साथ ही काले तिल को चबाकर खाने के बाद ठंडा पानी पीने से बवासीर में लाभ होता है. इससे पुराना बवासीर भी ठीक हो जाता है.
  • तिल, दांतों के लिए भी फायदेमंद है. सुबह शाम ब्रश करने के बाद तिल को चबाने से दांत मजबूत होते हैं, साथ ही यह कैल्शियम की आपूर्ति भी करता है.
  • शरीर के किसी भी अंग की त्वचा के जल जाने पर, तिल को पीसकर घी और कपूर के साथ लगाने पर आराम मिलता है, और घाव भी जल्दी ठीक हो जाता है.
  • सूखी खांसी होने पर तिल को मिश्री व पानी के साथ सेवन करने से लाभ मिलता है. इसके अलावा तिल के तेल को लहसुन के साथ गर्म करके, गुनगुने रूप में कान में डालने पर कान के दर्द में आराम मिलता है.
  • मुंह में छाले होने पर, तिल के तेल में सेंधा नमक मिलाकर लगाने पर छाले ठीक होने लगते हैं. 
  • 11. फटी एड़ि‍यों को ठीक करने के ल‍िए तिल का तेल गर्म करके, उसमें सेंधा नमक और मोम मिलाकर लगाएं. ऐसा करने से दरारें जल्‍द भरती हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *