Aloe vera benefits एलोवेरा के अदभुत असरदार फायदे और नुकसान

Aloe vera benefits एलोवेरा के अदभुत असरदार फायदे और नुकसान

एलोवेरा (Aloe vera benefits) यानि घृतकुमारी एक चमत्कारी औषधि है। एलोवेरा के पत्तों के जैल में विटामिन ए, बी1, बी2, बी3, बी6, बी12, सी, ई और फोलिक एसिड आदि पोषक तत्व पाए जाते हैं। एलोवेरा के रस में पाए जाने वाले खनिज – तांबा, लौह, सोडियम, कैल्शियम, जिंक, पोटेशियम, क्रोमियम, मैग्नीशियम और मैंगनीज के अनेक स्वास्थ्य लाभ हैं।

Aloe vera benefits एलोवेरा ना केवल सामान्य बिमारियों को जड़ से मिटा देता है बल्कि घातक बीमारियों का भी जम कर सामना करता है। स्वास्थ्य विशेषज्ञ एलोवेरा को प्रकृति की सबसे प्रभावशाली और बहुमुखी जड़ी बूटी मानते हैं। यह बाह्य एवं आंतरिक उपयोग के लिए सुरक्षित है। तो आइये जानें इस चमत्कारी औषधि के कुछ चमत्कारी गुण:

Aloe vera benefits

एलोवेरा के फायदे – Aloe vera ke fayde in Hindi

एलोवेरा जैल के फायदे त्वचा के लिए – Aloe vera gel for glowing skin in Hindi

त्वचा के लिए एलोवेरा(Aloe vera benefits) के फायदों को देखते हुए इसका व्यापक रूप से इस्तेमाल किया जाता है। यह त्वचा को हाइड्रेट एवं पोषित करता है और नई कोशिकाओं के उत्पादन को बढ़ावा देता है। चेहरे पर एलोवेरा जैल लगाने से चेहरा खिल उठता है। इसके अलावा एलोवेरा धूप की कालिमा, जले हुए निशान, इन्फेक्शन, ऐलर्जी आदि त्वचा सम्बंधित विकारों को ठीक करने के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है।

एलोवेरा जेल के फायदे मुहांसों से छुटकारा पाने के लिए – Aloe vera gel for pimples in Hindi

मुँहासे एक आम समस्या है जिसमें वसामय ग्रंथियाँ अधिक सक्रिय हो जाती हैं और अधिक तेल का उत्पादन होता है। मुहांसों से छुटकारा पाने के लिए उन पर दिन में दो बार एलोवेरा(Aloe vera benefits) का जैल लगाएं और सुन्दर व साफ त्वचा वापिस पाएं।

एलोवेरा जेल बालों के लिए – Aloe vera for hair in Hindi

Aloe vera benefits एलोवेरा को घृतकुमारी भी कहते हैं। यह एक बहुत ही अच्छा मॉइस्चराइज़र है जो बालों को घना व सुनहरा बना देता है। यह बालों का पीएच संतुलन बनाए रखने में भी मदद करता है। साथ ही एलोवेरा अपने समृद्ध पोषण से बालों के विकास को बढ़ावा देता है, उन्हें झड़ने से रोकता है और रूसी को जड़ से खत्म कर खुजली को कम करता है।

एलोवेरा(Aloe vera benefits) की दो पत्तियां लें और एक चम्मच द्वारा उसका जैल निकालें। इसमें आधे नींबू का रस मिलाएं और अच्छे से फेंटें।बालों को नम/थोड़ा सा गीला कर अपनी अंगुलियों से यह मिश्रण अपने सिर पर लगाएं। 15-20 मिनट के लिए एक गर्म तौलिये में अपने बाल लपेटें। फिर गुनगुने पानी और एक हल्के शैम्पू के साथ अपने बाल धो लें। हर एक या दो हफ़्तों में इस प्रक्रिया को दोहराने पर बहुत लाभ होगा।

एलोवेरा का उपयोग मसूड़ों को बनाता है स्वस्थ – Aloe vera for healthy gums in Hindi

Aloe vera benefits एलोवेरा अपनी प्राकृतिक जीवाणुरोधी (anti-bacterial) और रोगाणुरोधी (anti-microbial) गुणों के कारण मसूड़ों एवं मुँह के लिए अत्यंत उपयोगी है। यह विभिन्न प्रकार के विटामिन और खनिज से भरपूर है जो कोशिकाओं के विकास को बढ़ावा देते हैं और मसूड़ों से खून निकलने तथा मुंह में अल्सर (व्रण) जैसी समस्याओं से छुटकारा दिलाते हैं।

यदि आप मसूड़ों की बीमारी से पीड़ित हैं तो झट से राहत पाने के लिए ताज़े एलोवेरा जेल से अपने मसूड़ों की मालिश करें। आप ब्रश करने से पहले अपने टूथब्रश पर थोड़ा सा एलोवेरा(Aloe vera benefits) पाउडर भी छिड़क सकते हैं, इससे कुछ ही मिनटों के भीतर मुँह तरो-ताज़ा हो जाएगा। एलोवेरा का रस नियमित रूप से पीने से दांत मजबूत और स्वस्थ बनते हैं।

एलोवेरा का प्रयोग कब्ज पर लगाता है पूर्ण विराम – Aloe vera for constipation in Hindi

घृतकुमारी (Aloe vera benefits) के रस में फाइबर उच्च मात्रा में निहित होता है जो पाचन एवं मल-त्याग (bowel evacuation) की क्रिया में सुधार लाने के लिए बहुत आवश्यक है। यह एक प्राकृतिक रेचक भी है जिसकी वजह से एलोवेरा का रस कब्ज के इलाज के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। कब्ज महसूस होने पर दो औंस एलोवेरा का जूस पिएं और 10 घंटे के अंदर सकारात्मक परिणाम आपके सामने होंगे।

एलोवेरा जूस वजन घटाने में सहायक – Aloe vera juice for weight loss in Hindi

Aloe vera benefits एलोवेरा के जूस का नियमित रूप से सेवन करने से वजन घटाने में बहुत मदद मिलती है। यह एक रेचक (laxative) के रूप में कार्य कर हमारी पाचन क्रिया को उत्तेजित करता है। इसका रस पीने से शरीर में ताज़गी आती है, ऊर्जा का स्तर बढ़ जाता है और वजन कम होता है।

एलोवेरा का रस सूजन और दर्द से देता है राहत – Aloe vera juice for inflammation in Hindi

Aloe vera benefits एलोवेरा जोड़ों की सूजन और गठिया के दर्द को कम करने में सहायक होता है। एलोवेरा का रस पीने से शरीर में होने वाली सूजन को कम किया जा सकता है। केवल दो हफ्ते नियमित रूप से एलोवेरा का रस पीने से सूजन और दर्द के लक्षणों में बहुत हद तक कमी अनुभव की जा सकती है। यह अल्सरेटिव कोलाइटिस (ulcerative colitis) का भी एक सफल उपचार है।

एलोवेरा मधुमेह के रोगियों के लिए है फायदेमंद – Aloe vera benefits for diabetes in Hindi

Aloe vera benefits एलोवेरा मधुमेह के रोगियों के लिए तो वरदान है। यह ना केवल शुगर के स्तर को नियंत्रण में रखता है, अपितु इन्सुलिन के उत्पादन को भी नियंत्रित करता है। यह लिवर, किडनी एवं अन्य अंगों को शुगर से पहुँचने वाली क्षति से भी बचाता है। सर्वोत्तम नतीजों के लिए एलोवेरा का जूस रोज़ाना तीन महीनों तक पियें।

एलोवेरा का लाभ उच्च कोलेस्ट्रॉल को कम करने में – Aloe vera lowers high cholesterol in Hindi

Aloe vera benefits एलोवेरा हानिकारक कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम करके अच्छे कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को बढ़ाता है। पोषण विज्ञान और विटामिनोलोजी के जर्नल में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार इस जादुई औषधि के नियमित सेवन से 30 प्रतिशत तक कोलेस्ट्रॉल उत्पादन को कम किया जा सकता है। एलोवेरा की उचित खुराक के लिए अपने डॉक्टर से परामर्श अवश्य करें।

एलोवेरा जूस का फायदा प्रतिरक्षा प्रणाली को सशक्त करने में – Aloe vera juice for immune system in Hindi

Aloe vera benefits एलोवेरा एक शक्तिशाली एंटी-ऑक्सीडेंट है जो प्रतिरक्षा प्रणाली को सशक्त कर शरीर को बीमारियों के खिलाफ एक कवच प्रदान करता है। नियमित रूप से एलोवेरा जूस पियें और अपने शरीर को बैक्टीरियल एवं वायरल संक्रमणों से सुरक्षा प्रदान करें।

एलोवेरा के नुकसान – Aloe vera ke nuksan in Hindi

  • एलोवेरा जेल(Aloe vera benefits) को लगाना सुरक्षित माना जाता है, लेकिन लेटेक्स से निकाले गए असंसाधित एलोवेरा जूस से नुकसान भी हो सकता है तथा जिनके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक परिणाम हो सकते हैं
  • Aloe vera benefits एलोवेरा रस में एक Anthraquinone नामक पदार्थ होता है जो रेचक है और बड़ी मात्रा में लिए जाने पर ऐंठन, निर्जलीकरण और दस्त का कारण बन सकता है।
  • एलोवेरा(Aloe vera benefits) जूस लेने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श करें ख़ास तौर से जब आप एक चिकित्सा उपचार के दौर से गुजर रहे हैं या निर्धारित दवाइयाँ ले रहे हैं क्योंकि एलोवेरा जूस को कुछ दवाओं के साथ लेने पर प्रतिकूल प्रतिक्रिया हो सकती है।
  • गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को एलोवेरा जूस लेने से बचना चाहिए। गर्भवती महिलाओं के गर्भाशय के संकुचन से गर्भपात और जन्म दोष हो सकते हैं। स्तनपान कराने वाली महिलाओं को भी इसे नहीं लेना चाहिए क्योंकि इसका Anthraquinone दस्त का कारण बन सकता है। यह 12 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए भी असुरक्षित है।
  • एलोवेरा(Aloe vera benefits) जूस की खपत शरीर में एड्रेनालाईन की अत्यधिक मात्रा उत्पन्न कर सकता है जो हृदय रोग से पीड़ित लोगों के लिए हानिकारक हो सकता है। यह शरीर में पोटेशियम की मात्रा भी कम कर सकता है जिससे दिल की धड़कन अनियमित हो सकती है, कमजोरी आ सकती है और मांसपेशियां मुलायम हो सकती हैं। इसलिए यह बच्चों और बुजुर्ग लोगों को नहीं लेना चाहिए।
  • एलोवेरा(Aloe vera benefits) जूस की ज्यादा खपत से श्रोणि में रक्त का निर्माण हो सकता है जिससे गुर्दे को क्षति हो सकती है।