Cinnamon Benefits दालचीनी के अदभुत फायदे और नुकसान

Cinnamon Benefits दालचीनी के अदभुत फायदे और नुकसान

दालचीनी (Cinnamon Benefits) का उपयोग मसाले और दवा के रूप में बहुत समय से किया जाता रहा है। प्राचीन काल में इसके गुणों के कारण इसकी कीमत सोने से भी ज्यादा थी।

दालचीनी (Cinnamon Benefits) को पेड़ की भूरी छाल से बनाया जाता है और बाज़ार में सूखे ट्यूबलर या फिर पाउडर के रूप में उपलब्ध होती है। दालचीनी का लगभग एक सौ किस्में हैं।

Cinnamon Benefits दालचीनी में एक मनमोहक सुगंध के साथ एक मीठा-सा उष्म स्वाद भी विधमान होता है। दालचीनी के मुख्य स्वास्थ्य लाभ छाल में पाए जाने वाले तेलों से मिलते हैं। इन तेलों में सिनामाल्डिहाइड, सिनामाइल एसीटेट और सिनामाइल मद्य नामक सक्रिय घटक होते हैं।

Cinnamon Benefits दालचीनी में शक्तिशाली रोगाणुरोधी, एंटी-इंफ्लेमेटरी, संक्रामक विरोधी और एंटी-क्लोटिंग गुण होते हैं। यह एंटी-ऑक्सिडेंट, पॉलीफेनोल और मैंगनीज, आयरन और फाइबर जैसे खनिजों का भी एक अति उत्कृष्ट स्रोत है। इसके पोषक तत्व आपके शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। इसके अलावा यह शर्करा, कार्बोहाइड्रेट, फैटी एसिड और एमिनो एसिड का एक प्राकृतिक स्रोत है।

Cinnamon Benefits

दालचीनी के फायदे – Dalchini ke Fayde in Hindi

दालचीनी के फायदे रखें मधुमेह को नियंत्रित – Dalchini Powder for Diabetes in Hindi

टाइप 2 मधुमेह वाले लोगों के लिए दालचीनी (Cinnamon Benefits) एक वरदान से कम नहीं है। दालचीनी टाइप-2 मधुमेह पर सकरात्मक प्रभाव डालता है और मधुमेह रोगी को एक स्वस्थ और साधारण जीवन व्यतीत करने में मदद करता है। यह शरीर की इंसुलिन के प्रति प्रतिक्रिया को बढ़ावा कर रक्त शर्करा के स्तर को सामान्य बनाये रखने में शरीर की सहायता करता है।

नियमित रूप से प्रति दिन डेढ़ चम्मच से कम दालचीनी लेने वाले टाइप 2 मधुमेह रोगियों में रक्त शर्करा का स्तर कम पाया गया है।

दालचीनी (Cinnamon Benefits) से मधुमेह में लाभ उठाने के लिए इसे अपने दैनिक आहार में शामिल करें। इसका उपभोग बहुत ही सरल है। आपको बस दालचीनी पाउडर को सुबह अपने दलिया या ओर कोई अन्य आहार पर छिड़क कर खाना है या फिर अपनी शाम वाली चाय या कॉफी में इसकी एक चुटकी मिठास मिलानी है।

Cinnamon Benefits दालचीनी को दूध में डाल कर पीना भी मधुमेह के लिए लाभदायक होता है।

दालचीनी की चाय बढ़ाएँ दिमाग की कार्यशीलता – Cinnamon for Brain Health in Hindi

दालचीनी(Cinnamon Benefits) पर किये गए अनेक शोधों में पता चला कि मानसिक सतर्कता में काफी सुधार लाता है। इस अद्भुत मसाले की मनभावन सुगंध सूंघने भर लेने से दिमाग सक्रिय हो जाता है। दालचीनी की ध्यान, स्मरण शक्ति और कार्यशील स्मृति से संबंधित मस्तिष्क के कामकाज में काफी सुधार ला सकती है।

जो लोग परीक्षा की चिंता और घबराहट से परेशान होते हैं, वे मन को शांत रखने के लिए दालचीनी की चाय पी सकते हैं। यकीन मानिये यह वास्तव में आपकी चिंता को कोसों दूर भेज उसे आनंद और एकाग्रता से प्रतिस्थापित कर देगी और आप ख़ुशी-ख़ुशी अपना कार्य पूरा कर सकेंगे।

दालचीनी का उपयोग करे हृदय की रक्षा – Cinnamon Good for Your Heart in Hindi

दालचीनी(Cinnamon Benefits) के विभिन्न एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों के कारण, यह दिल और उसके आसपास की धमनियों को नुकसान और संक्रमण से बचाने में बहुत प्रभावी सिद्ध होती है।

आजकल लोग बहुत से फैटी खाद्य पदार्थों का सेवन करते हैं जो कोलेस्ट्रॉल और वसा से परिपूर्ण होते हैं। इसकी वजह से जिस विषाक्त पदार्थ का निर्माण होता है, वह हृदय रोग प्रेरित करते हैं।

दालचीनी(Cinnamon Benefits) के उपयोग से शरीर को ‘खराब’ कोलेस्ट्रॉल से लड़ने में मदद मिलती है तथा कुल कोलेस्ट्रॉल का स्तर काफी घट जाता है। इसके एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण भी आंतरिक ऊतकों में सूजन को ठीक करने और दिल के दौरे और बीमारी के जोखिम को कम करने में मदद करते हैं।

Cinnamon Benefits

दालचीनी के लाभ लाएँ कोलन में सुधार – Dalchini ke Fayde for Colon in Hindi

Cinnamon Benefits दालचीनी फाइबर, कैल्शियम और मैंगनीज खनिज का एक उत्कृष्ट स्रोत है। कैल्शियम और फाइबर का संयोजन बृहदान्त्र की कार्यक्षमता में बहुत अधिक सुधार ला सकता है।

कैल्शियम और फाइबर पित्त और लवण को शरीर से निकालने में मदद करते हैं। पित्त के निकास से, फाइबर कोलन कोशिकाओं की क्षति को रोकने में मदद करता है, जिससे पेट के कैंसर का खतरा कम हो जाता है।

डायरिया (दस्त) और कब्ज सहित आई.बी.एस (इर्रिटेबल बोवेल सिंड्रोम) के लक्षणों से राहत पाने में आहार फाइबर बहुत उपयोगी है।

दालचीनी के औषधीय गुण बचाएँ कैंसर से – Cinnamon Prevents Cancer in Hindi

शोधों से पता चला है कि दालचीनी(Cinnamon Benefits) कैंसर की कोशिकाओं के प्रसार को कम कर सकती है। टेक्सास विश्वविद्यालय में किए गए शोध के अनुसार, दालचीनी शरीर में कैंसर की कोशिकाओं में वृद्धि को कम करती है और जब आहार में इसे नियमित रूप से शामिल किया जाये, तो यह कैंसर को रोकने में मदद करती है। दालचीनी ल्यूकेमिया और लिम्फोमा कैंसर कोशिकाओं की वृद्धि दर को कम करने में भी मददगार साबित होती है।

दालचीनी का सेवन है रक्त परिसंचरण में प्रभावी – Cinnamon for Blood Circulation in Hindi

Cinnamon Benefits दालचीनी में कौमारिन नामक एक यौगिक होता है जिसमें रक्त को पतला करने वाले गुण निहित हैं। इससे पूरे शरीर में रक्त परिसंचरण में सुधार आता है। अधिक कौमारिन लिवर की कार्यशीलता पर प्रभाव डाल सकता है और उसे क्षति भी पहुंचा सकता है। इसलिए दालचीनी का उपयोग कम मात्रा में करना उत्कृष्ट माना जाता है।

दालचीनी के औषधीय उपयोग करें चकत्तेदार अध: पतन का उपचार – Cinnamon for Macular Degeneration in Hindi

Cinnamon Benefits दालचीनी शक्तिशाली एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर है जो मस्तिष्क के आंतरिक ऊतकों की निरंतर सूजन को कम करती है। इसके इस प्रभाव से कई न्यूरोलॉजिकल विकारों से शरीर को सुरक्षा मिलती है।

Cinnamon Benefits दालचीनी के शक्तिशाली और प्राकृतिक घटकों में अल्जाइमर्स, पार्किंसंस, मल्टीपल स्केलेरोसिस, मस्तिष्क ट्यूमर और मेनिन्जाइटिस सहित विभिन्न प्रकार के न्यूरॉइडजनरेटिव रोगों की शुरुआत को या फिर उन्हें पूर्णत रोकने की क्षमता है।

Cinnamon Benefits

दालचीनी के नुस्खे हैं कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए – Dalchini for High Cholesterol in Hindi

दालचीनी(Cinnamon Benefits) आपके रक्त में ट्राइग्लिसराइड्स और एल.डी.एल. (“खराब कोलेस्ट्रॉल“) के स्तर को काफी कम कर सकती है, जिससे हृदय रोग के जोखिम को कम किया जा सकता है। दालचीनी में मौजूद सक्रिय संघटक कोशिकाओं की चीनी को चयापचय करने की क्षमता को 20 गुना तक बढ़ा देते हैं।

अपने कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करने के लिए, एक दिन में एक बार दालचीनी पाउडर को अपने कॉफी में या अपने दलिया पर छिड़क कर इसका सेवन करें।

दालचीनी के गुण करें श्वसन संक्रमण का इलाज – Cinnamon ke Fayde for Respiratory Problems in Hindi

माना जाता है कि दालचीनी(Cinnamon Benefits) सर्दी और फ्लू को ठीक करने या उससे राहत दिलाने में बेहद उपयोगी है। गल शोथ से छुटकारा पाने के लिए, पिसी हुई दालचीनी के एक या दो चम्मच का सेवन ग्रीन टी या फिर सेब के सिरके के साथ करें। आप श्वसन संक्रमण के इलाज में दालचीनी में नींबू का रस भी मिला सकते हैं। यदि आप सामान्य सर्दी या खाँसी से पीड़ित हैं, तो गुनगुने शहद और दालचीनी के एक-चौथाई चमच्च का मिश्रण बनाये और नाश्ते के बाद और सोने से पहले रोजाना दो बार लें।

दालचीनी पाउडर है गठिया के दर्द को कम करने में सहायक – Cinnamon Powder and Honey for Arthritis in Hindi

Cinnamon Benefits दालचीनी में गठिया दर्द से जुड़े साइटोकिन्स (cytokines) को कम करने की क्षमता हैं। सुबह-शाम एक चम्मच शहद के साथ आधा चम्मच दालचीनी पाउडर मिलाकर सेवन करने पर एक हफ्ते में ही गठिया के दर्द में काफी राहत मिल जाएगी तथा एक महीने के भीतर दर्द के बिना चलना-फिरना सम्भव है।

दालचीनी के नुकसान – Dalchini ke Nuksan in Hindi

हालांकि दालचीनी(Cinnamon Benefits) आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद है, यह सोचकर इसका अधिक सेवन न करें। यदि आपको लगता है कि एक बार में बड़ी खुराक लेने से आपको दालचीनी का अधिक लाभ मिलेगा, तो आपकी सोच बिलकुल गलत है क्योंकि इसके अधिक सेवन का आपको लाभ मिले ना मिले परंतु इसके साइड-इफेक्ट्स का सामना आपको अवश्य करना पड़ेगा।

  • दालचीनी(Cinnamon Benefits) का सेवन करने में स्तनपान करा रही माताओं और गर्भवती महिलाओं को सावधानी बरतनी चाहिए।
  • वास्तव में, दालचीनी का बड़ी मात्रा में उपभोग जहरीला हो सकता है और आपके लिवर को नुकसान पहुंचा सकता है। दालचीनी (विशेष रूप से उसका तेल) समय से पहले दर्द उत्पान कर सकता है या फिर गर्भाशय को भी छोटा कर सकता है।
  • कुछ लोगों को दालचीनी से एलर्जी भी हो सकती है, भले ही उन्होंने इसका सेवन पहले बिना किसी साइड-इफेक्ट्स के किया हो।

दालचीनी(Cinnamon Benefits) के लाभ तो बहुत हैं परंतु आपको उपरोक्त बताई गई सावधानियों को भी नहीं भूलना चाहिए। अतः इसके उपभोग से पहले इसके लाभ-हानि को अच्छे से समझ लें और इसका सेवन उचित मात्रा में ही करें।