Dry fruits – सूखे मेवे खाने से होने वाले शरीर में स्वास्थ्य लाभ

Dry fruits – सूखे मेवे खाने से होने वाले शरीर में स्वास्थ्य लाभ

सूखे मेवे (Dry fruits) हमारे शरीर के लिए काफी फायदेमंद होता है, इनमें फाइबर (fiber), पोटेशियम (potassium) और एंजाइमों के उच्च गुण होते हैं। इन्हें आप आसानी से पचा सकते हैं। इसी के साथ यह आपके रक्त को भी साफ करती हैं और जठरांत्र प्रणाली को बढ़ाने सकता है।

Dry fruits

हाल में हुए कुछ अध्ययनों से यह पता लगा है कि सूखे मेवों में पौष्टिक आहार होने के साथ ही एंटी ऑक्सीडेंट (anti oxidants) भी होते हैं। आइए जाने ऐसे ही कुछ सूखे मेवों के बारे में, जिनकी मदद से आप आसानी से अपने स्वास्थ्य को मजबूत बना सकते हैं।

आप इन सभी तरह की उत्कृष्ट पौष्टिक सूखे मेवे (Dry fruits) का लाभ, सूखे मेवों का सेवन कर अपने शरीर को मजबूत बना सकती हैं।

सूखे मेवे खाने के फायदे – स्वास्थ्य के लिए स्वस्थ हैं सूखे मेवे (Healthy dry out fruits intended for health – sukhe meve ke gun)

काजू (Dry fruits – Cashew nuts)

काजू खाने के फायदे, काजू में भी कई तरह के पौष्टिक होते हैं, जो कि स्वास्थ्य को बरकरार रखने में काफी मदद करती हैं। इसमें प्रोटीन (protein) और फाइबर भी उच्च मात्रा में होता है। काजू में मोनो असंतृप्त वसा होता है, जो शरीर को हृदय संबंधित बीमारियों से दूर करता है। इसके साथ इसमें पोटेशियम, विटामिन डब्ल्यू (vitamin W), मैग्नीशियम (magnesium), फास्फोरस (phosphorous), सेलेनियम (selenium) आदि होता है, जो कि आपके शरीर को स्वस्थ रखने में काफी मददगार होते हैं।

बादाम खाने के फायदे (Almonds – Dry fruits)

सूखे मेवे के फायदे, बदाम विटामिन से भरपूर होते है, यह दूध पचाने के लिए काफी बेहतर होते हैं। बादाम में असंतृप्त वसीय होते हैं, क्योंकि इसमें विटामिन बी1(vitamin b1) के साथ ही आयरन और फास्फोरस होता है। आप इन सूखे फलों का सेवन कर आराम से अपना स्वास्थ्य बना सकती हैं। इनका सेवन करने से नए रक्त सौर कोशिकाएं और हीमोग्लोबिन (hemoglobin) का ग्रोथ (growth) होता है। इसका सेवन करने से दिमाग, हृदय, तंत्रिका भावना और हड्डियां भी मजबूत हो जाती है।

खजूर (Dates – sukhe meva ka labh)

खजूर में प्राकृतिक मिठास होती है, जो कि लगभग हर तरह के सूखे मेवों (Dry fruits) में होती ही है। खजूर आपके दिल के स्वास्थ्य के लिए काफी अच्छा होता है, इतना ही नहीं यह आपके आतों के कामकाज को आरामदायक बनाने में भी मददगार होती है।

Dry fruits

किशमिश (Raisins – Dry fruits)

किसमिस खाने के फायदे, सूखे अंगूर को ही किशमिश कहा जाता है, इसमें उच्च पौष्टिक गुण होते हैं। इसमें शूगर की पर्याप्त मात्रा होती है, इसलिए इसे खाद्य पदार्थों में सबसे मूल्य माना गया है। किशमिश का सेवन आप आसानी से कर सकते हैं। इसका सेवन कर आप अपने शरीर में हुई आयरन (iron) की कमी को पूरा कर सकते हैं

खुबानी (Apricots – sukhe meve ke fayde)

खुबानी भी एक अच्छा सूखा मेवा (Dry fruits) है, जिसमें फाइबर और बीटा कैरोटीन के गुण होते हैं। इसके अलावा इसमें पोटेशियम के साथ विटामिन सी, मैग्नीशियम, आयरन, कैल्शियम, फास्फोरस, विटामिन, सिलिकॉन आदि की उच्च मात्रा होती है। एंटी ऑक्सीडेंट लाइकोपीन (antioxidant Lycopene) के मजबूत गुण भी खुबानी में पाया जाता है।

सूखा आलू बुखारा (Prunes – Dry fruits)

सूखे आलूबुखारा में फाइबर, विटामिल ए का सप्लिमेंट, कॉपर (copper) , पोटेशियम के अच्छे स्रोत होते हैं। इसका सेवन करने से आप आसानी से अपना वजन को कम करने के साथ ही सामान्य ब्लड गूलूकोज (blood glucose) के स्तर को कम कर सकती हैं। सूखे आलूबुखारा में बीटा कैरोटीन (Beta-carotene) होता है जो फ्री रेडिकल्स (free radicals) को कम करता है। आप भी आज ही सूखे आलूबुखारा खरीद कर मार्किट (market) से ले आएं, ऐसा करने से आप काफी स्वस्थ महसूस करने लगेंगे। इसे एक बार खरीद कर ले आए, उसके बाद रोजाना सवेरे सवेरे इन्हें चबाएं। ऐसा करने से शरीर में एनर्जी (energy) बनी रहती है।

सूखे मेवे 1700 B.C. में मेसोपोतामियन जमाने से चलते आ रहे है। यह माना जाता है की पूर्व फोएनिशिअन (pheonician) और एज्यप्तियन (egyptian) ने सूखे मेवे (Dry fruits) दुनिया भर में मशहूर किये थे। इनके इस आविष्कार ने सूखे मेवे के मार्किट मूल्य को बहुत तेज़ी से उठा दिया था और इस से यह दुनिया भर में ख़रीदे जाने लगे थे।

सबसे बड़ी खासियत इसकी यह थी की यह ज्यादा समय तक रख सकते है, यह जल्दी से खराब नहीं होते। यह ज्यादा पोर्टेबल (portable) भी है। यही कारण है जो क्रिस्टोफर कोलंबस (christopher columbus) सूखे मेवे से जीवित रहे। ऐतिहासिक दृष्टी से, सूखे मेवे (Dry fruits) ज्यादातर सूरज की किरणों से सुखाये जाते थे या उन्हें डीह्य्द्रेट (dehydrate) कर के बनाया जाता था।

वैसे सूखे मेवे (Dry fruits) और कुछ नहीं बल्कि फल है जो सूखा कर बनाए जाते है। सूखे मेवे स्टैमिना (stamina) और एनर्जी के लिए बेहतरीन माने जाते है। और इसमें कैलोरी भी कम होती है। इनके बहुत से लाभ है, नीचे दिए गए विचार से आप जानकारी प्राप्त कर सकते है की सूखे मेवे कैसे आपके लिए लाभकारी साबित होते है।

Dry fruits

उच्च फाइबर (High fiber – Dry fruits)

फाइबर (fibre) से सही पाचन होता है और सही पाचन से आपका स्वास्थय सही बना रहता है। हमे शरीर के लिए विटामिन (vitamin), प्रोटीन (protein), मिनरल्स, कार्बोहायड्रेट (carbohydrate) और फैट (fat) की आवश्यकता पड़ती है वैसे ही फाइबर भी हमारे शरीर के कार्यों के लिए आवश्यक है।

इसलिए फाइबर को हमारी खुराक में मिलाना सेहतमंद है। अंजीर (figs) और चेरी (cherries) में फाइबर भरी हुई है। चेरी में तो एंटी ऑक्सीडेंट (anti oxidants) गुण भी है। अंजीर में आयरन, फोलिक एसिड (folic acid) और पोटैशियम भरा हुआ है। किशमिश (raisin) और खुबानी (apricot) से भी फाइबर प्राप्त होता है। हाल के एक अध्ययन से यह साबित हुआ है की अगर यह पदार्थ रोज़ खाए जाए तो मोटापा (obesity) , कैंसर और हृदय सम्बंधित समस्या दूर हो सकती है।

एंटी ओक्सिदंट्स (Antioxidants – Dry fruits)

एंटी ओक्सिदंट्स से हम सभी प्रकार की बीमारियों से सुरक्षित रह सकते है। इसलिए एंटी ऑक्सीडेंट से भरपूर खाना हमे रोज़ खाना चाहिए। कुछ सूखे मेवे (Dry fruits) है जो एंटी ओक्सिदंट्स से भरपूर पाए गए है जैसे की खजूर, अंजीर (phenol)। अंजीर से हम हृदय सम्बंधित बिमारी , कैंसर , ऑस्टियोपोरोसिस (osteoporosis) , डायबिटीज और ब्रेन सम्बंधित बीमारियों से सुरक्षा प्रदान करती है। मेटाबोलिक सिस्टम (metabolic system) को लम्बे समय तक स्वस्थ रखने में एंटी ओक्सिदंट्स का हाथ होता है।

पोषक तत्व घनत्व (Nutrient density – Dry fruits)

अनेक सूखे मेवे (Dry fruits) पोटेशियम (potassium) , विटामिन इ (vitamin E) , मैंगनीज (manganese) , आयरन (iron) , कैल्शियम (calcium) और बीटा कैरोटीन (beta caroteen) से भरपूर होते है। उदाहरण के लिए जैसे सूखे आलूबुखारे , किशमिश , खुबानी और अन्य। इसलिए रोज़ अपनी खुराक में सूखे मेवे मिलाये और स्वस्थ रहे।

फैट और कैलोरी (Fat and calories – Dry fruits)

यह एक गलत- फैमि है कि सूखे मेवे (dry fruit) फैट से भरपूर है। वास्तविकता में, इनमे जीरो फैट (zero fat) है और बहुत सी एनर्जी प्रदान करते है। यह पहलवानों और खेल व्यक्ति के लिए बहुत ही आवश्यक है। इसमें फैट तो नहीं है लेकिन इनके कारण आप वजन ज़रूर बढ़ा सकते है। पर फिर भी कैलोरी पर ध्यान दे कि आप कितनी कैलोरी ग्रहण कर रहे है।