Saffron केसर (Kesar) खाने के 11 बड़े फायदे और घरेलु उपाय

Saffron केसर (Kesar) खाने के 11 बड़े फायदे और घरेलु उपाय

शायद ही कोई होगा जो केसर(Kesar) के स्वास्थ्यवर्धक होने की बात को ना जानता होगा। ना जाने कितने युगों से केसर सौंदर्य एवं सेहत बनाने के लिए इस्तेमाल किया गया है। हल्के और सुनहरे लाल रंग का केसर सेहत में चार-चाँद लगा देता है। सरल भाषा में कहें तो केसर स्वास्थ्य में सुधार लाने का एक सरल एवं स्वादिष्ट उपचार है।

यह विटामिन ए, फोलिक एसिड, तांबा, पोटेशियम, कैल्शियम, मैंगनीज, लोहा, सेलेनियम, जिंक, मैग्नीशियम, राइबोफ्लेविन और थिअमिने जैसे अनेक पोषक तत्वों से भरा है। इसके अतिरिक्त इसमें लाइकोपीन, अल्फा-कैरोटीन, बीटा कैरोटीन और जेक्सनथिन जैसे घुलनशील पिगमेंट भी समाविष्ट हैं। यह सभी तत्व मिलकर इसे स्वास्थ्य के लिए अत्यंत लाभदायक बना देते हैं। तो आइये हम भी जानें इस सुनहरे औषधि के बारे में और विस्तार से:-

Kesar

केसर के फायदे – Kesar ke fayde in Hindi

केसर का फायदा है स्मरण शक्ति में सुधार लाने में – Saffron for memory in Hindi

Kesar केसर दिमाग में विकसित हो रहे अमीलोइड बीटा (amyloid β) पर रोक लगाता है और आपके दिमाग को अल्ज़ाइमर एवं अन्य स्मरण-शक्ति से सम्बंधित विकारों से बचाता है। 2010 में प्रकाशित एक रिपोर्ट में पाया गया कि केसर संज्ञात्मक शक्ति में सुधार ला अल्ज़ाइमर को ठीक करने में मदद करता है। यह आपके सीखने और याद करने की क्षमता को बढ़ाने में मदद करता है। स्मरण शक्ति बढ़ाने के लिए रोज़ाना केसर वाला दूध या फिर चाय पियें।

केसर का उपयोग करें आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए – Kesar for eyes in Hindi

सिडनी के यूनिवर्सिटी में 2009 में हुए एक अध्य्यन के अनुसार केसर (Kesar) में कुछ ऐसे तत्व निहित हैं जो आँखों की दृष्टि को तीव्र बनाने में सहायक हैं। इसके अलावा यह आँखों के समग्र स्वास्थ्य को भी बढ़ावा देता है और उम्र सम्बंधित नेत्र के विकारों को उलटा-पाँव लौटने पर मज़बूर कर देता है। इसकी सही खुराक के लिए एक अच्छे डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

केसर का दूध पिएं मासिक धर्म की असुविधा को दूर करने के लिए – Saffron for menstrual cramps in Hindi

BJOG (अंतर्राष्ट्रीय पत्रिका) में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार केसर स्त्रियों में मासिक धर्म के होने से पहले वाले लक्षणों (Pre-menstrual syndrome, PMS) से राहत दिलाने के लिए एक वैकल्पिक उपचार के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है।

पीएमएस के लक्षणों से राहत पाने के लिए, दिन में दो बार 15 मिलीग्राम केसर(Kesar) का सेवन रोजाना करें, लेकिन पहले एक बार डॉक्टर से परामर्श जरूऱ करें। इससे सूजन, ऐंठन, मिजाज के चिड़चिड़ेपन, मुँहासे, स्तन कोमलता और थकान जैसे पीएमएस के लक्षणों को कम करने में मदद मिलेगी।

पेट दर्द और अधिक मात्रा में खून बहना जैसी मासिक धर्म असुविधाओं से राहत पाने के लिए आप केसरिया दूध या फिर चाय पी सकते हैं।

केसर खाने के फायदे डिप्रेशन में – Saffron for depression in Hindi

क्या आपको पता है शरीर में कुछ ऐसे यौजिक (कंपाउंड्स) होते हैं जो हमें खुश रहने में सहायता करते हैं और उनके स्तर को बढ़ा कर हम डिप्रेशन को भी हरा सकते हैं। केसर कार्टेनोइड्स (carotenoids) और विटामिन बी का प्रचुर स्रोत है जो सेरोटोनिन और अन्य रसायनों के उत्पादन स्तर को बढ़ा हमें खुश रखने में मदद करता है।

एथनोफार्माकॉलोजी के जर्नल में प्रकाशित एक 2005 के अध्ययन में पाया गया कि अवसाद (डिप्रेशन) को ठीक करने में केसर काफी प्रभावी है।

केसर, यदि सही ढंग से लिया जाए तो अवसाद के लक्षणों को कम करने में प्रभावी होता है। दिन में दो बार 15 मिलीग्राम केसर (Kesar) का सेवन करें और डिप्रेशन को अलविदा कहें। आप केसर को खाना पकाने में इस्तेमाल कर सकते हैं या फिर दूध के साथ इसका सेवन कर सकते हैं।

Kesar

केसर लाता है चेहरे की रंगत में सुधार – Kesar benefits for skin in Hindi

Kesar केसर में त्वचा के रंग को हल्का करने वाले गुण होते हैं जो ना केवल आपके त्वचा के रंग को निखारते हैं अपितु साथ ही उसे रोग-मुक्त, सुन्दर एवं मुलायम भी बनाते हैं। चमकदार एवं गोरी त्वचा पाने के लिए –

  • उसे दो छोटे चम्मच दूध में भीगने 15-20 मिनट के लिए छोड़ दें। इसमें थोड़ा सा शहद मिलाएं और अपने चेहरे पर लगा लें। 20-30 मिनट बाद अपना चेहरा धोएं और फर्क महसूस करें। अच्छे परिणाम के लिए यह प्रक्रिया रोज़ाना दोहराएं।
  • इसके अलावा आप चेहरे की रंगत में सुधार लाने के लिए केसर (Kesar) का फेस-मास्क भी लगा सकते हैं। केसर का फेस मास्क बनाने के लिए एक छोटे चम्मच चन्दन पाउडर में थोड़ा सा दूध और केसर मिलाकर एक गाढ़ा पेस्ट बना लें। इसे अपने चेहरे और गर्दन पर लगाएं, 20 मिनट सूखने के बाद धो लें। यह प्रक्रिया हर सप्ताह एक या दो बार करें और अपने चेहरे को एक नया निखार उपहार में दें।

केसर उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को करता है धीमा – Saffron slows down the process of aging in Hindi

केसर(Kesar) में बहुत ही प्रभावशील एंटी-ऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं, जो समय से पहले आने वाले बुढ़ापे को आपके शरीर को प्रभावित करने से पहले ही भगा देता है। यह मुँहासे, धब्बे, झुर्रियां और ब्लैकहैड के इलाज के लिए भी प्रभावी है।

त्वचा को एक चमकदार निखार देने के लिए –

  • कच्चे पपीते के गूदे में एक चुटकी केसर(Kesar) मिक्स करें। यह पेस्ट अपने चेहरे और गर्दन पर लगा लें और 15 मिनट के बाद मज़े से शॉवर लें। यह प्रक्रिया नियमित आधार पर इस्तेमाल करें और झुर्रियाँ एवं धब्बेदार त्वचा से छुटकारा पाएं।
  • मुहांसों से छुटकारा पाने के लिए दूध में भिगोये केसर से त्वचा की दिन में दो बार मालिश करें।

केसर है हृदय के लिए स्वास्थ्यवर्धक – Saffron benefits for heart in Hindi

Kesar केसर ह्रदय के स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। यह रक्त-चाप के स्वस्थ स्तर को बनाये रखने एवं हानिकारक कोलेस्ट्रॉल को कम करने में सहायक है। यह रक्त-धमनियों को पोषित कर उनमें हो रहे प्लाक-गठन पर रोक लगाता है और रक्त-प्रवाह को नियमित करता है। यह और भी ह्रदय के रोगों के लिए रिपु साबित हुआ है।

केसर (Kesar) को अपने दैनिक आहार में थोड़ी सी जगह दें और ह्रदय को सेहतमंद बनाएं। इसकी खुराक के लिए एक बार डॉक्टर से परामर्श कर लें।

केसर है अस्थमा का उपचार – Saffron for asthma in Hindi

Kesar केसर अस्थमा के रोगी को स्वस्थ रूप से सांस लेने में भी सहायता करता है। यह फेफड़ों में हो रही जलन एवं सूजन को कम करता है और हवा को फेफड़ों से अच्छे से पास होने में मदद करता है। यह अस्थमा-अटैक की संभवना को भी कम करने में सहायक है। अस्थमा के साथ-साथ केसर (Kesar) अन्य श्वसन प्रणाली से सम्बंधित विकारों का भी उपचार कर सकता है। कुछ दिनों तक दिन में ३-४ बार केसर की चाय पियें और अस्थमा के अटैक के होने की संभावना को कम करें

 

Kesar

केसर का इस्तेमाल होता है पाचन प्रणाली को सशक्त करने में – Saffron for digestion in Hindi

उपचार के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके अलावा, केसर (Kesar) में ऐसे गुण भी पाए जाते हैं जो पेट में गैस को कम करने और पेट में हो रहे दर्द को भी ठीक करने में सक्षम हैं।

अपनी पाचन प्रणाली को सशक्त करने के लिए रोज़ सुबह एक कप केसर की चाय पियें। केसर (Kesar) की चाय बनाने के लिए एक कप पानी में बिलकुल थोड़ा सा केसर मिलाएं और इसे गैस पर उबलने के लिए चढ़ा दें। शहद के रूप में इसमें स्वाद के अनुसार मिठास मिलाएं और पी लें।

केसर का लाभ है अनिद्रा में – Saffron for insomnia in Hindi

अनिद्रा जैसी बीमारी आपके पूरे जीवन को अस्त-व्यस्त करके रख सकती है। यदि आप भी इस परेशानी से परेशान है तो चिंता छोड़िये और जल्दी से केसर (Kesar) का हाथ थाम लीजिये। केसर एक शामक औषधि है जो आपके दिमाग को शांत कर आपको सोने में सहायता करती है। अनिद्रा का हल करने के लिए रोज़ रात को सोने से पहले गर्म दूध में थोड़ा सा केसर 5 मिनट तक फूलने दे और उसे पी लें। आप इसमें मिठास के लिए शहद भी डाल सकते हैं।

केसर के फायदे प्रेगनेंसी में – Kesar for pregnancy in Hindi

गर्भवती महिलाएं पेट में गैस और सूजन से पीड़ित होती हैं। यह गर्भावस्था के दौरान आम लक्षण हैं और केसर दूध का एक गिलास इन समस्याओं में मदद कर सकता है। गर्भवती महिलाओं का मिजाज बदलता रहता है, उन्हें चिंता और अवसाद भी होता है और केसर एक अवसाद विरोधक के रूप में कार्य करता है। नए शरीर का आकार, अम्लता, सीने में जलन और शौचालय बार-बार जाने से सोने में मुश्किल हों सकती है।

क्योंकि केसर अम्लता और पाचन तंत्र को ठीक रखने में मदद करता है, यह आपको एक बच्चे की तरह सोने में भी मदद करेगा। सबसे आम तरीका इसके उपभोग का केसर दूध के रूप में है। 2 से 3 केसर के रेशे गर्म दूध के एक गिलास के साथ लेते हैं। यदि आप दूध नहीं पी पाते हैं, तो आप इसे किसी सूप या गर्म पानी में डालकर ले सकते हैं। लेकिन गर्भवती महिलाओं को डॉक्टर से परामर्श के बाद में ही केसर का सेवन करना चाहिए।

केसर के नुकसान – Kesar ke nuksan in Hindi

यदि आप इसका सेवन सही मात्रा में करें तो इसके आपको कोई भी साइड-इफ़ेक्ट महसूस नहीं होंगे परंतु अधिक मात्रा में इसका सेवन करने से ना केवल आपकी जेब ढीली हो जायेगी अपितु साथ ही में सेहत भी ख़राब हो जायेगी। अधिक मात्रा में इसका सेवन करने से आपको सिर दर्द, उलटी, उबकन, भूख में कमी इत्यादि साइड-इफेक्ट्स महसूस हो सकते हैं।

यदि आप किसी दिल की बिमारी से ग्रस्त हैं और इसका सेवन सही मात्रा में ना करें, तो इसके साइड-इफेक्ट्स और भी गंभीर रूप ले लेते हैं।

इसके अतिरक्त यदि आप बाइपोलर डिसऑर्डर से प्रभावित हैं या फिर गर्भवती हैं तो इसका सेवन डॉक्टर से पूछने पर ही करें।