Walking Barefoot on Grass घास पर नंगे पैर चलने से होते हैं जबरदस्त फायदे

Walking Barefoot on Grass घास पर नंगे पैर चलने से होते हैं जबरदस्त फायदे

ताजा घास, गुनगुनी धूप और सुंदर प्राकृतिक वातावरण में कोई भी अपने जूते उतारकर नंगे पैर घास पर चलने का आनंद लेना चाहेंगा। अक्सर घर में नंगे पाँव चलने (Walking Barefoot on Grass) के लिए मना किया जाता है क्योंकि उससे पाँव गंदे हो जाते हैं। लेकिन घास पर नंगे पाँव चलने से ऊर्जा मिलती है और इस ऊर्जा के साथ संपर्क में रहना शरीर, मन और आत्मा को पोषण प्रदान करता है। ऐसा माना जाता है कि सुबह और शाम के समय घास पर नंगे पाँव चलना सेहत के लिए लाभकारी होता है, ख़ासकर हमारी आँखों के लिए।

Walking Barefoot on Grass

आइए आपको बताते हैं कि इसके और कितने लाभ हैं –

benefits of walking barefoot on grass

घास पर चलने के फायदे बढ़ाएं आँखों की रोशनी – Walking barefoot on grass improves eyesight in Hindi

हमारे पैरों में कई रिफ्लेक्सोलॉजी जोन होते हैं जो आंखों सहित हमारे शरीर के विभिन्न अंगों के अनुरूप होते हैं। जब हम नंगे पैर चलते हैं, पहली, दूसरी और तीसरी अंगुली के ऊपर अधिकतम दबाव डालते हैं जो हम आँखों के लिए मुख्य रिफ्लेक्सोलॉजी दबाव बिंदु है। इन बिंदुओं को उत्तेजित करके दृष्टि सुधारने में मदद मिलती है। यह पूरे शरीर को स्वस्थ रहने में भी मदद करता है।

इसके अलावा, घास के हरे रंग को देख कर आंखों को शांति मिलती है। नेत्र स्वास्थ्य के लिए, घास पर सुबह की ओस भी फायदेमंद है।

घास पर चलना है पैरों के लिए अच्छा – Ghas par chalne ke fayde pairo ke liye

नंगे पैर चलना आपके पैरों के लिए एक बहुत ही अच्छा व्यायाम है। यह आपके पैरों, टखनों और काल्व की मांसपेशियों और स्नायुबंधन को मजबूत और बढ़ाता है। इससे चोट, घुटने की ऐंठन और पीठ की समस्याओं को रोकने में मदद मिलती है। यह फ्लेक्सोर शक्ति में सुधार भी करता है।

इसके अलावा, यह आपके पोस्चर को सीधा रखने में मदद करता है और अपने पैरों के तलवों में कैलस, ऐंठन और कठोरता के विकास के जोखिम को कम करता है।

हरी घास पर चलने के फायदे करें तनाव को कम – Walking barefoot on grass reduces stress in Hindi

घास पर नंगे पैर चलना (Walking Barefoot on Grass), खासकर सुबह में, आपकी इंद्रियों को फिर से जीवंत करने और मन को शांत करने में मदद करता है। ताजा हवा, गर्म धूप, ग्रीन परिवेश और सुबह का शांतिपूर्ण वातावरण का संयोजन कई मायनों में मदद करता है।

ताजा ऑक्सीजन आपके शरीर के अंगों के लिए अच्छी होती है, सूरज की रोशनी विटामिन डी प्रदान करती है और शांत वातावरण आपके पूरे शरीर और मन को आराम करने में मदद करता है। यह बदले में आप अधिक आराम महसूस करने और तनाव से राहत महसूस करने में सहायता करता है।

इसके अलावा, 30 मिनट के लिए घास पर नंगे पैर चलने से(Walking Barefoot on Grass) आपको अपने दिन-प्रतिदिन की गतिविधियों को आसानी से और आराम से संभालने में मदद मिलेगी।

Walking Barefoot on Grass

घास पर नंगे पाँव चलकर पाए विटामिन डी – Strolling on grass barefoot helps you get Vitamin D in Hindi

जब आप बाहर घास पर नंगे पांव चलते हैं, तो सूर्य की किरणें शरीर को विटामिन डी के साथ भी पोषण प्रदान करती हैं, जिसे सनस्क्रीन विटामिन भी कहा जाता है। विटामिन डी आपकी हड्डियों को स्वस्थ रखने और पुराने ऑस्टियोआर्थराइटिस और अन्य हड्डियों-और संयुक्त-संबंधित रोगों को रोकने में मदद करती है।

इसके अलावा, विटामिन डी का निम्न स्तर हाई ब्लड प्रेशर, हृदय रोग, टाइप 1 मधुमेह, मल्टीपल स्केलेरोसिस, अल्जाइमर रोग, रुमेटीइड गठिया और कुछ कैंसर के बढ़ते जोखिम से जुड़ा हुआ है।

गर्भवती महिलाओं के लिए भी विटामिन डी बहुत महत्वपूर्ण है। इसके अलावा, सूरज की रोशनी चिकित्सा ऊर्जा से भरपूर है जो जीवन शक्ति प्रदान करती है।

अधिकतम लाभ के लिए, सुबह या दोपहर के बाद घास पर नंगे पांव चलने(Walking Barefoot on Grass) का आनंद लें।

इलेक्ट्रॉन्स को बढ़ाने के लिए चले घास पर नंगे पैर – Electrons boosting effects of Walking Barefoot on Grass in Hindi

ट्रांस फैट (वसा), सिगरेट, कीटनाशक आदि के संपर्क में आने से मुक्त कण तनाव (free radical stress) आपके शरीर के इलेक्ट्रॉन्स को नष्ट कर देता है और पृथ्वी फ्री रेडिकल बूस्टिंग इलेक्ट्रॉन्स का एक अच्छा स्रोत है।

2012 में “जर्नल ऑफ एनवायरनमेंटल एंड पब्लिक हेल्थ” में प्रकाशित एक समीक्षा के अनुसार, जब आप जमीन पर नंगे पैर चलते हैं, तो पृथ्वी के सतह के इलेक्ट्रॉन्स आपके शरीर में स्थानांतरित हो जाते हैं, जो कि शारीरिक परिवर्तनों को बढ़ावा देता है।

इन इलेक्ट्रॉन्स में एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव होते हैं जो ऑक्सीडेटिव तनाव से लड़ने में मदद करते हैं जो सूजन और रोगों से जुड़ा होता है।

इसके अलावा, नंगे पैर चलने के कई लाभ(Walking Barefoot on Grass) और भी हैं –

  1. नींद में सुधार आता है.
  2. हृदय स्वास्थ्य बेहतर होता है .
  3. दिमाग तेज होता है .
  4. प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत होती है .
  5. तंत्रिका तंत्र को मजबूती मिलती है.