Winter Health Tips सर्दियों में सेहत की देखभाल करने के लिए करे ये जरुरी काम 

Winter Health Tips सर्दियों में सेहत की देखभाल करने के लिए करे ये जरुरी काम

जैसे ही सर्दियां आती हैं, वैसे ही तापमान भी कम हो जाता है। तो ऐसे में ज़ाहिर सी बात है कि सर्दी-जुखाम, फ्लू और बुखार जैसी समस्‍याएं अपने आप ही शरीर को जकड़ लेती हैं। किसी भी बीमारी से बचने के लिए ज़रूरी होता है कि हम पहले से ही इनसे बचने के इंतजाम करने शुरु कर दें। (Winter Health Tips) इन स्वास्थ्य समस्याओं से बचने के लिए आयुर्वेद के पास समाधान है, जो न केवल आपकी मदद कर सकते हैं बल्कि इनसे मुकाबला करने के लिए आपको सक्षम भी बनाते हैं।

Winter Health Tips

आयुर्वेद तीन दोषों के आधार पर हमारे शरीर को समझने में मदद करता है – वात, कफ और पित्त। यह हमें खाद्य पदार्थ, जड़ी बूटी और मसालों के भीतर की ऊर्जा को भी सिखाता है। (और पढ़ें – गर्म पानी पीने के फायदे) आयुर्वेद के अनुसार सर्दियों के समय हमारे शरीर की प्रतिरोधक क्षमता और शक्ति उच्च होती है। इस समय पाचन शक्ति बहुत मजबूत होती है जिससे कि आपका शरीर अधिक मात्रा या भारीपन की परवाह किए बगैर किसी भी भोजन को पचाने में सक्षम होता है। हालांकि यह महत्वपूर्ण है कि सर्दियों को अधिक मनोरंजक बनाने के लिए आप कुछ सावधानी बरतें।

सर्दियों में खाएं संतुलित आहार (Winter Health Tips)

सर्दियां वात दोष के साथ जुड़ी हुई हैं, इसलिए वात संतुलन आहार का पालन करें। अपने आहार में बहुत सारे ताज़े फल और अच्छी तरह से पकाई हुई सब्जियों को शामिल करें।

सर्दियों में सेहत की देखभाल के लिए ठंडे भोजन से बचें(Winter Health Tips)

गर्म और मसालेदार भोजन और गर्म पेय पदार्थ पीते रहें। ठंडे पेय से बचें।

सर्दियों में स्वस्थ रहने के लिए करें तेल मालिश (Winter Health Tips In Hindi)

अपने दिन की शुरुआत एक तेल मालिश के साथ करें – यह इस मौसम में बहुत मददगार है।

Winter Health Tips

सर्दियों में तनाव से बचें

अत्यधिक तनाव से वात (vata dosha) दोष बढ़ सकता है। इसलिए जितना संभव हो उतना तनाव से बचें।

सर्दियों में ठीक से खाएँ दोपहर का भोजन

आपका दोपहर का भोजन, दिन का सबसे बड़ा भोजन होना चाहिए। इस समय के दौरान, सूरज आकाश में सबसे उच्चतर होता है और इस तरह भोजन आंतरिक पाचन आग को सबसे मजबूत करता है।

सर्दियों में नियमित समय पर सोएं

जब सर्दियों में 10 बजे तक बिस्तर पर जाने की एक नियमित आदत बनाएं। अनियमित बिस्तर पर जाने के समय से वात दोष बढ़ सकता है।

सर्दियों में ख़ुद को रखें गर्म

ठंडी हवा से अपने शरीर की रक्षा करें, इससे शरीर में वात बढ़ जाता है। अपने शरीर को गर्म रखने के लिए गर्म कपड़े और स्कार्फ पहनें।

सर्दियों में करें व्यायाम

आपको इष्टतम स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए नियमित रूप से व्यायाम करने की भी ज़रूरत है।