Pineapple Benefits अनानास खाने के अदभुत फायदे और नुकसान

Pineapple Benefits अनानास खाने के अदभुत फायदे और नुकसान

अनानस (Pineapple Benefits) सुनहरे रंग का दिखने वाला एक बहुत ही स्वादिष्ट सा फल है। परंतु क्या आप इस बात से परिचित है कि सुनहरे रंग का यह फल आपके सेहत के लिए भी सुनहरा है। जी हाँ, अनानास में ना केवल खट्टे-मीठे स्वाद का खजाना समाया हुआ अपितु साथ ही में यह स्वास्थ्य लाभ के लिए गुणों का भी भण्डार है।

यह फल एंटीऑक्सिडेंट, फाइबर, विटामिन ए और विटामिन सी, थायमिन, कैल्शियम, पोटेशियम, फास्फोरस, मैंगनीज के साथ-साथ फोलेट से भी भरपूर है। इसके अतिरिक्त, यह सोडियम और वसा में भी कम है। संक्षेप में अनानास पौष्टिक गुणों का भण्डार है और कैलोरीज कम होने की वजह से यह डाइटिंग करने वाले व्यक्तियों का घनिष्ट मित्र भी।

Pineapple Benefits

अनानास के फायदे – Pineapple ke Fayde in Hindi

अनानास के फायदे करें पाचन शक्ति को उत्तेजित – Pineapples for Digestion in Hindi

अनानस (Pineapple Benefits) पाचन प्रक्रिया का समर्थन करने के लिए उत्तम माना जाता है। यह पाचन शक्ति को उत्तेजित तो करता ही है परंतु साथ ही में यह पेट एवं आंत की अंदुरनी सतह को भी शांत करने में भी उपयोगी है। यह घुलनशील एवं अघुलनशील दोनों ही तरह के फाइबर से भरपूर है, जो पाचन प्रक्रिया एवं मल-त्याग क्रिया में अत्यंत महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वाह करते हैं। इसके अलावा, इसमें ब्रोमेलैन नामक एक तत्व पाया जाता है जो प्रोटीन के पाचन में सहायक है।

अनानास (Pineapple Benefits) आंत्र पथ के संक्रमण का इलाज करने में भी इस्तेमाल किया जाता है। इसके अतिरिक्त, अनानास एक प्राकृतिक रेचक के रूप में कार्य करता है इसलिए यह कब्ज की समस्या का एक सफल समाधान है।

अनानास खाने के लाभ इम्युनिटी को बढ़ावा देने के लिए – Pineapple Boosts Immune System in Hindi

अनानस (Pineapple Benefits) विटामिन सी का एक बहुमूल्य भण्डार है और विटामिन सी इम्यून सिस्टम की कार्यशीलता के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण पोषक तत्व है। यह शरीर की विभिन्न प्रकार के वायरस से रक्षा करता है और जुकाम, फ्लू, कान में संक्रमण और आदि संक्रामक बीमारियों के खिलाफ शरीर के प्रतिरोध प्रक्रिया को बढ़ावा देता है। विटामिन सी एक एंटी-ऑक्सीडेंट के रूप में भी कार्य करता है जो शरीर को फ्री-रेडिकल क्षति से बचाता है। शरीर में फ्री-रेडिकल के संचय से प्लाक उत्पादन होता है जो हृदय सम्बंधित बीमारियों का एक प्रमुख कारण है।

अनानास के उपयोग दिलाएँ मॉर्निंग सिकनेस से छुटकारा – Pineapples for Morning Sickness in Hindi

इस फील्ड से सम्बंधित अध्ययनों में यह पाया गया है कि सुबह-सुबह अनानास (Pineapple Benefits) खाने से मॉर्निंग सिकनेस से होने वाली मतली एवं उलटी को कम किया जा सकता है। एक लोक उपाय भी यही सुझाव देती है कि मॉर्निंग सिकनेस को अनानास के जूस का सेवन करने से ठीक किया जा सकता है। इसके इस लाभ का श्रेय इसमें उच्च मात्रा में सम्मलित खनिज व विटामिन्स को जाता है, ख़ास तौर पर विटामिन बी 6।

तो अगली बार जब आपको मॉर्निंग सिकनेस का महसूस हो तो ताजा कटे हुए एक कटोरी अनानास का सेवन करें या फिर इसके जूस का आनंद उठाएं।

Pineapple Benefits

अनानास के गुण हैं उच्च रक्तचाप को रोकने में मददगार – Pineapple Reduces High Blood Pressure in Hindi

चूंकि अनानास (Pineapple Benefits) में अच्छी मात्रा में पोटैशियम पाया जाता है और इसमें सोडियम की मात्रा भी कम है, इसलिए अनानस के नियमित रूप से सेवन करने पर उच्च रक्तचाप के खतरे को बहुत हद तक कम किया जा सकता है। एक कप अनानस में 1 mg सोडियम होता है और 195 mg पोटैशियम। उच्च मात्रा में निहित पोटैशियम रक्तचाप को कम करने में अत्यंत सहायक होता है।

पाइनेपल के फायदे करें सूजन को कम – Pineapple Decreases Swelling in Hindi

अनानास (Pineapple Benefits) में ब्रोमेलैन नामक एक तत्व पाया जाता है जो एक प्राकृतिक एंटी-इंफ्लेमेटरी एजेंट के रूप में कार्य करता है और आपके शरीर को जलन व सूजन से छुटकारा दिलाता है। यह मोच, मांसपेशियों में मामूली खींचाव एवं चोट से जुड़ी सूजन का विरोध करने में मदद करता है। साथ ही यह गाउट (वात रोग) और गठिया से सम्बंधित दर्द व सूजन को शांत करने में भी सहायक है।

अनानस (Pineapple Benefits) के सेवन के साथ-साथ आप ब्रोमेलैन के सप्लीमेंट्स का भी सेवन डॉक्टर से परामर्श लेने के पश्चात कर सकते हैं।

पाइनएप्पल जूस के फायदे है वजन घटाने में सहायक – Pineapples for Losing Weight in Hindi

वजन घटाने वाले आहार में अनानस (Pineapple Benefits) सर्वोत्तम फलों में से एक है। यह आपके पेट को भरा रखता है जिससे आप अत्यधिक भोजन ग्रहण करने से बच जाते हैं और आपके शरीर में ऊर्जा की कमी भी नहीं होती। और ऊपर से इसमें कैलोरीज भी बहुत कम होती है। इसमें पानी एवं फाइबर की मात्रा भी उच्च है जो आपको लंबे समय तक भरा-भरा रखती है।

आप वजन कम करने के लिए अनानास की मदद से एक वनस्पतीय मादक अर्क (tincture) बना सकते हैं। इसे बनाने के लिए आप पहले अनानास (Pineapple Benefits) को छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लें और मिक्सर की सहायता से अच्छे से पीस लें। इसके पश्चात इस मिश्रण को एक मेसन जार में डालें और इसमें लगभग आधा लीटर वोडका मिलाएं। एक सप्ताह के लिए इसे फ्रिज में रख दें। इस मिश्रण का एक चमच्च रोजाना खाना खाने से 15-20 मिनट पहले पियें।

अनन्नास खाने के फायदे हैं स्वस्थ आँखों के लिए – Ananas ke Fayde for Eyes in Hindi

विटामिन ए में समृद्ध होने के कारण, अनानस (Pineapple Benefits) आँखों की स्वास्थ्य को बनाए रखने और चकत्तेदार अध: पतन (जो बुजुर्ग लोगों में दृष्टि हानि का एक प्राथमिक कारण है) से बचाव करने में फायदेमंद हैं। ऑप्थाल्मोलॉजी के अभिलेखागार में प्रकाशित एक अध्ययन से पता चलता है कि प्रतिदिन अनानास की तीन या अधिक सर्विंग्स का उपभोग करने से आयु-संबंधित धब्बेदार अव्यवस्था के विकास के जोखिम में 36 प्रतिशत की कमी आ सकती है।

Pineapple Benefits

अनानास के लाभ बनाये रखें हड्डियों के स्वास्थ्य को – Pineapple for Bones in Hindi

अनानास (Pineapple Benefits) खनिज मैंगनीज का एक अच्छा स्रोत है जो हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए आवश्यक है। वास्तव में, शरीर में मैंगनीज का निम्न स्तर हड्डियों की विकृति और हड्डियों के नुकसान से जुड़ा हुआ है जो कम अस्थि घनत्व और ऑस्टियोपोरोसिस के लिए अग्रणी है।

मैंगनीज फ्री-रेडिकल क्षति से कोशिकाओं को बचाता है, जिससे वृद्धावस्था की प्रक्रिया धीमी हो जाती है और कैंसर सहित अन्य कई रोगों को रोकने में मदद करती है। ताजा अनानास (Pineapple Benefits) का एक कप आपके शरीर को मैंगनीज़ की दैनिक आवश्यकता का 75 प्रतिशत प्रदान करता है।

अनानास के जूस के फायदे बनाएं त्वचा को चमकदार – Pineapples for Glowing Skin in Hindi

अनानास (Pineapple Benefits) अपनी समृद्ध विटामिन सी सामग्री की वजह से साफ और चमकदार त्वचा को बनाए रखने के लिए उत्कृष्ट है जो क्षतिग्रस्त ऊतकों की मरम्मत में मदद करता है और त्वचा की चमक को बढ़ावा देता है। साथ ही इसके एंजाइम त्वचा की लचक को बढ़ाते हैं और त्वचा की मृत कोशिकाओं के उन्मूलन (Elimination) को बढ़ावा देते हैं। एनर्जी-ऑक्सीडेंट से भरपूर होने की वजह से यह बूढ़े होने की गति को भी धीमा कर देती है।

इसलिए अनारस (Pineapple Benefits) खाएं और फिर से अपनी त्वचा को जीवंत बनाएं। अपने सौंदर्य आहार में इस फल को शामिल करने का एक आसान तरीका यह है कि आपके चेहरे पर अनानास का एक टुकड़ा रगड़ें और 15 से 20 मिनट के बाद धो कर साफ़ व कोमल त्वचा का स्वागत करें।

पाइनएप्पल के फायदे लाएं मौखिक स्वास्थ्य में सुधार – Pineapple ke Fayde for Oral Health in Hindi

अनानास (Pineapple Benefits) में उच्च विटामिन सी सामग्री दांतों पर पट्टिका (plaques) के गठन को रोकने में मदद करती है और साथ ही में मसूड़ों से सम्बंधित विकारों के खतरे को कम करती है। इसके अलावा, शोध से पता चलता है कि अनानास में ब्रोमेलन, एक प्राकृतिक दाग हटाने वाला घटक निहित है इसलिए यह आपके दांतों को मोती के समान सफ़ेद रंग देने में और चमकाने में मदद करता है।

अनानास के नुकसान – Pineapple ke Nuksan in Hindi

यह तो प्रकृति का नियम है, यदि किसी के सेवन से सेहत लाभ पहुँचता है तो उसी का अधिक सेवन करने से शरीर को हानि भी पहुँच सकती है। अनानास(Pineapple Benefits) के कुछ ऐसे ही दुष्प्रभाव निम्नलिखित है –

  • अनानास (Pineapple Benefits) में प्राकृतिक शर्करा बहुत ही उच्च मात्रा में पाई जाती है जिससे शुगर रोगियों के ब्लड शुगर स्तर में बढ़ोतरी हो सकती है।
  • अनानास फल प्राकृतिक रूप से अम्लीय स्वभाव का है जिसके अधिक सेवन से दंतवल्क (Enamel) नरम हो जाती है और आपके दांत सड़ सकते हैं। इसलिए सुनिश्चित करें कि अनानास खाने के बाद या अनानास के रस को पीने के बाद आप पानी से अच्छी तरह से कुल्ला करें।
  • बहुत ही अधिक मात्रा में अनानास का उपभोग करने से आपके होंठ, भीतरी गाल और जीभ में सूजन हो सकती है। हालांकि यह सूजन कुछ ही घंटों के भीतर स्वयं ही ठीक हो जाती है परंतु यदि आपको रैशेस भी हो रही हों तो तुरंत एक अच्छे डॉक्टर से संपर्क अवश्य करें।
  • गर्भवती महिलाओं को इसके सेवन से बचना चाहिए। इसके सेवन से गर्भाशय संकुचन हो सकता है जिसका एक परिणाम गर्भपात भी हो सकता है। स्तनपान करा रही महिलाओं को भी जितना हो सके इसका सेवन नहीं करना चाहिए।
  • अनानास में बहुत ही उच्च मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है जिसके अधिक सेवन से आपको दस्त, उलटी, पेट में दर्द, सिर में दर्द, अत्यधिक माहवारी रक्तस्राव आदि परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।
  • अनानस (Pineapple Benefits) के अत्यधिक सेवन से आपको संधिशोथ भी हो सकता है। इसके अलावा इसका अधिक सेवन गले व किडनी सम्बंधित विकारों का भी कारण बन सकता है।