Honey Benefits शहद खाने के अदभुत फायदे और नुकसान

Honey Benefits शहद खाने के अदभुत फायदे और नुकसान

शहद(Honey Benefits) एक मीठा तरल मधुमक्खियों द्वारा निर्मित अमृत है जो वे ऊर्ध्वनिक्षेप और वाष्पीकरण की जटिल प्रक्रिया के साथ फूलों के माध्यम से इकट्ठा करती हैं। शहद ग्लूकोज़, फलशर्करा (fructose) और खनिजों जैसे लोहा, कैल्शियम, फॉस्फेट, सोडियम, क्लोरीन, पोटेशियम, मैग्नीशियम से बना है। यह विटामिन बी 1, बी 2, बी 3, बी 5 और बी -6 में भी काफी समृद्ध है।

शक्तिशाली एंटीसेप्टिक (रोगाणु रोधक), एंटीबायोटिक (प्रतिजीवाणु) और चिकित्सा गुणों की उपस्थिति के कारण, शहद (Honey Benefits) कई आम स्वास्थ्य समस्याओं के इलाज के लिए दवा के रूप में प्रयोग किया जाता है। तो आइए जानें शहद के बारे में।

Honey Benefits

शहद के फायदे – Honey Benefits in Hindi

शहद और नींबू हैं खांसी का इलाज – Honey for Cough in Hindi

कई अध्ययनों से पता चला है कि शहद (Honey Benefits) खांसी के लिए कही अधिक कारगर उपाय है, दूसरी अन्य खांसी की दवाओं की तुलना में। शहद में मज़बूत जीवाणुरोधी गुण होते हैं जो कि खराब गले को आराम देते हैं और ऐसे बैक्टीरिया को ख़त्म करने में मदद करते हैं जो संक्रमण का कारण होते हैं। खांसी से जल्दी राहत के लिए, ताज़ा नींबू के रस और शहद के एक बड़े चम्मच का मिश्रण तैयार करें और नियमित अंतराल पर इस घोल को पीते रहें। आप शहद, नींबू का रस और गुनगुने पानी के एक गिलास में नमक की एक चुटकी डालकर भी मिश्रण तैयार कर सकते हैं और इसका इस्तेमाल गरारे करने के लिए कर सकते हैं।

शहद देता है ऊर्जा के स्तर को बढ़ावा – Honey Boosts Energy in Hindi

शहद(Honey Benefits) तुरंत आपके ऊर्जा के स्तर को बढ़ावा दे सकता है। शहद में प्राकृतिक शर्करा के कारण, यह कैलोरी और ऊर्जा का एक स्वस्थ स्रोत प्रदान करता है जब शरीर को इनकी सबसे ज्यादा जरूरत होती है।

यह आसानी से थकान से लड़ता है और कम ऊर्जा की समस्या को हल करता है। साथ ही शहद(Honey Benefits) शरीर की कुछ मीठे की लालसा को संतुष्ट करता है। इसका मतलब यह है कि आप अतिरिक्त वज़न की चिंता किए बिना शहद का उपयोग कर सकते हैं। अगली बार जब आपका कुछ मीठा खाने का मन हो, तो बस कच्चे, जैविक शहद (organic honey) की एक चम्मच खाएँ।

शहद का लाभ पाचन तंत्र के लिए – Honey for Digestion in Hindi

Honey Benefits शहद एक प्रभावी रोगाणुरोधी एजेंट है जो कि पूरे पाचन तंत्र को लाभ देता है। शहद में मौजूद एंज़ाइम (ग्लूकोज़ ऑक्सीडेस) हाइड्रोजन पेरोक्साइड की छोटी मात्रा का उत्पादन करता है जो कि गैस्ट्राइटिस का इलाज कर सकता है।

शहद (Honey Benefits) गैस को भी बेअसर करता है, जो अक्सर ज़्यादा खाने की वजह से होती है। भारी भोजन से पहले शहद का एक या दो बड़ा चम्मच पाचन प्रक्रिया में सुधार के लिए सबसे अच्छा तरीका है।

घाव और चोट को ठीक करने में शहद का उपयोग – Honey for Wounds and Cuts in Hindi

शहद(Honey Benefits) में प्राकृतिक एंटीसेप्टिक, जीवाणुरोधी और रोगाणुरोधी गुण होते है। ये गुण घाव और चोट को साफ करने में मदद करते हैं। इसके अलावा, शहद घाव और चोट को संक्रमण से मुक्त रखता है, गंध और दर्द को कम करता है और तेज़ी से घाव को ठीक करने में मदद करता है।

गुनगुने पानी और हल्के साबुन के साथ घाव और चोट की सफाई करने के बाद, प्रभावित क्षेत्र पर शहद की एक परत लगा लें और एक पट्टी से पूरी तरह प्रभावित क्षेत्र को ढक लें। हर 24 घंटे के बाद पट्टी बदलें। जिन लोगों को सामयिक प्रतिजैविक (antibiotics) दवाओं से एलर्जी होती है, शहद(Honey Benefits) उनके लिए एक बेहतरीन विकल्प है।

Honey Benefits

शहद के औषधीय गुण मांसपेशियों की थकान के लिए – Honey for Muscle Fatigue

एथलीट अक्सर मांसपेशियों की थकान से ग्रस्त होते हैं, जो उनके प्रदर्शन के स्तर को प्रभावित कर सकता है। लेकिन यह समस्या शहद के साथ आसानी से हल की जा सकती है।

शहद(Honey Benefits) एथलीटों के प्रदर्शन और सहनशीलता स्तर को बढ़ावा देता है और मांसपेशियों की थकान को कम कर सकता है। यह शहद में ग्लूकोज़ और फलशर्करा के सही संयोजन के कारण होता है। ग्लूकोज़ तुरन्त शरीर द्वारा अवशोषित हो जाता है और तत्काल ऊर्जा प्रदान करता है जबकि फ्रक्टोज़ धीरे धीरे अवशोषित होता है और शरीर को निरंतर ऊर्जा प्रदान करता है।

शहद के गुण हैं जलने की चोट में असरदार – Honey for Minor Burns in Hindi

आप शहद(Honey Benefits) का उपयोग छोटी सी जलने की चोट पर भी कर सकते हैं। इसके जीवाणुरोधी और फंगसरोधी गुण बैक्टीरिया के विकास को रोक सकते हैं और रोगाणुरोधी गुण संक्रमण को रोकने में मदद करते हैं।

यदि आपको छोटी सी जलने की चोट है, तो बस प्रभावित क्षेत्र पर कच्चे शहद को लगाएं। कुछ ही समय के भीतर आप खुजली की उत्तेजना, जलन और दर्द से राहत महसूस करेंगे। तेज़ी से इलाज के लिए आप शहद को जले हुए क्षेत्र पर दिन में कई बार कई दिनों तक लगाएँ।

शहद और दूध के फायदे नींद के लिए – Honey for Insomnia in Hindi

कई लोगों को सोने में परेशानी होती है। शहद (Honey Benefits) इस समस्या के लिए एक सरल उपाय है। शहद एक वसा को पचाने वाला कार्बोहाइड्रेट है जो कि इंसुलिन को उत्तेजित करता है और ट्रिप्टोफेन को आसानी से मस्तिष्क में प्रवेश करने की अनुमति देता है।

ट्रिप्टोफेन एक यौगिक है जो कि हमें नींद दिलाता है। बिस्तर पर जाने से पहले एक गिलास गर्म दूध के साथ शहद ले। दोनों शहद और दूध ट्रिप्टोफेन युक्त खाद्य पदार्थ हैं।

शहद और मोटापा – Honey for Weight Loss in Hindi

शहद में विटामिन, खनिज और एमिनो एसिड होता है। ये सभी तत्व वसा और कोलेस्ट्रॉल के चयापचय को बढ़ावा देने के लिए एक साथ काम करते हैं। इससे शरीर के वज़न को बनाए रखने और मोटापे को रोकने में मदद मिलती है।

यह पाया गया है कि सुबह के समय खाली पेट एक गिलास गुनगुने पानी के साथ शहद (Honey Benefits) और नींबू का रस पीने से वज़न कम होता है। ऐसे करने से जिगर की सफाई, विषाक्त पदार्थों को हटाने और शरीर से वसा को बाहर करने में मदद मिलती है।

Honey Benefits

शहद के फायदे चेहरे पर – Honey for Skin in Hindi

इसके रोगाणुरोधी और फंगसरोधी गुण के कारण, शहद स्वस्थ और चमकदार त्वचा के लिए सर्वश्रेष्ठ घटक है। दाग-धब्बों के लिए, बिस्तर पर जाने से पहले थोड़ा सा शहद सीधे प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं। यह त्वचा को शहद (Honey Benefits) के औषधीय गुणों को अवशोषित करने के लिए सारी रात देगा।

अगली सुबह इसे गुनगुने पानी के साथ धो लें। कई दिनों के लिए इस सरल उपाय का पालन करें और इससे जल्दी ही आपकी त्वचा साफ और चमकदार होगी। शहद एक्ज़िमा, दाद और सोरायसिस जैसे अन्य त्वचा के विकारों के इलाज के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है। शहद त्वचा की सूजन और सूखेपन को भी दूर कर सकता है।

शहद करता है रक्त शर्करा को नियंत्रित – Honey for Blood Sugar Control in Hindi

शहद (Honey Benefits) मीठा होता है, लेकिन मधुमेह से पीड़ित लोग भी बिना किसी समस्या के इसका मज़ा ले सकते हैं। वास्तव में, शहद फलशर्करा(fructose) और ग्लूकोज़ के संयोजन के कारण रक्त में शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है। शहद के कुछ प्रकारों में कम हाइपोग्लाइसेमिक (कम रक्त शर्करा) सूचकांक हैं। इसका मतलब यह है कि जब इस तरह के शहद का सेवन किया जाता है, यह आपके रक्त में शर्करा के स्तर को तेज़ी से बढ़ने नहीं देंता है।

टाइप 1 मधुमेह से पीड़ित लोगो को दिन में शहद का एक बड़ा चम्मच खाना चाहिए। साथ ही शहद में खनिज, विटामिन और इसके एंटीऑक्सीडेंट गुण अत्यधिक फायदेमंद हैं। इसके अलावा, चीनी की तुलना में मीठे के रूप में शहद का उपयोग किया जा सकता है।

शहद के नुकसान – Honey Side Effects in Hindi

इन सभी स्वास्थ्य लाभ के कारण, शहद(Honey Benefits) को अपनी आहार योजना में शामिल करना अच्छा है। लेकिन, एक वर्ष से कम उम्र के बच्चों को शहद नहीं देना चाहिए क्योंकि इससे शिशु बोटुलिज़्म हो सकता है। इसका अर्थ है की शिशु के शरीर में विषाक्तता हो जाती है जिससे उनकी मांसपेशियाँ कमज़ोर हो जाती हैं और उन्हें साँस लेने में भी परेशानी होती है।

शहद की अत्यधिक मात्रा गंभीर पेट की परेशानी का कारण बन सकता है। फ्रुक्टोज़ से युक्त होने के कारण, यह आपकी छोटी आंत के पोषक तत्वों की अवशोषण क्षमता को बाधित कर सकता है। यह आपकी जठरांत्र प्रणाली पर भी दीर्घकालिक प्रभाव छोड़ सकता है और कई गैस्ट्रिक मुद्दों का कारण बन सकता है जैसे सूजन, गैस, ऐंठन आदि। कभी-कभी यह दस्त या पेट की ख़राबी जैसी गंभीर स्थिति की ओर भी ले जाता है।

कच्चे शहद (Honey Benefits) का सेवन हल्की एलर्जी भी दे सकता है। यह फूलों का असंसाधित अमृत है जिसमें पराग, कीटनाशक और अन्य रसायन हो सकते हैं। इसका प्रत्यक्ष उपभोग एलर्जी के लक्षणों जैसे सूजन, खुजली, चकत्ते, पित्ती, खाँसी, दमा, श्वास की मुसीबतें, निगलने में कठिनाई का कारण बन सकता है।

कच्चे शहद (Honey Benefits) में ग्रायनोटौक्सिन्स नामक रासायनिक यौगिक होते हैं जो हमारे तंत्रिका तंत्र के लिए ज़हरीले होते हैं। सामान्य रूप में, यह विषाक्त पदार्थ पाश्चराइज़ेशन (pasteurization) के दौरान भोजन से निकल जाते हैं। लेकिन जब कच्चे शहद का सेवन किया जाता है, वे हमारी तंत्रिका कोशिकाओं को नुकसान पहुंचा सकते हैं। इससे हमारे तंत्रिका तंत्र की सामान्य गतिविधियों पर असर हो सकता है।

शहद की पहचान कैसे करें – How to Identify Pure Honey in Hindi

एक काँच के गिलास में पानी लें और उसमें एक चम्मच शहद मिला लें। अगर शहद पानी में घुल जाएगा, तो वह मिलावटी है। अगर वह सतह पर बैठ जाएगा, तो वो असली है।