Vitamin E benefits विटामिन ई से लाभ और नुकसान उसके स्रोत

Vitamin E benefits विटामिन ई से लाभ और नुकसान उसके स्रोत

विटामिन ई (Vitamin E benefits) मनुष्य को स्वस्थ रखने के लिए और विभिन्न रोगों को रोकने के लिए महत्वपूर्ण है। यह विविध प्रकार के खाद्य पदार्थों में पाया जाता है, और इस विटामिन का उपयोग करने का सबसे अच्छा तरीका है कि इसे स्वस्थ आहार के माध्यम से लिया जाए| विटामिन ई की ज्यादा मात्रा खतरा भी हो सकती है।

विटामिन ई के स्रोत – Vitmain E Sources in Hindi

Vitamin E benefits विटामिन ई वसा में घुलनशील यौगिकों के एक परिवार से है।

विटामिन ई (Vitamin E benefits) के अच्छे स्त्रोत बादाम, मूंगफली और अखरोट हैं| वनस्पति तेलों में सूरजमुखी, गेहूं, कुसुम, मक्का और सोयाबीन में विटामिन ई पाया जाता है| सूरजमुखी के बीज और हरी पत्तेदार सब्जियाँ जैसे पालक और ब्रोकोली में भी विटामिन ई मिलता है|

Vitamin E benefits

विटामिन ई के फायदे – Vitamin E benefits in Hindi

Vitamin E benefits विटामिन ई प्रत्येक नुकसान से मानव कोशिकाओं की रक्षा करता है| स्वास्थ्य समस्याओं की कई क़िस्मों को कम करने में सहायता करता है जिसमें कैंसर, दिल की बीमारी और भूलने की बीमारी जैसी कई बीमारियाँ है| विटामिन ई के कई अन्य फ़ायदे हैं| सेल संरक्षण के अलावा, विटामिन ई प्रतिरक्षा प्रणाली के कामकाज के लिए महत्वपूर्ण है। विटामिन ई नेत्रों की लंबी अवधि तक रक्षा करता है – एक अनुसंधान के अनुसार विटामिन ई खाने वालों में मोतियाबिंद कम पाया जाता है|

यह हार्मोन की तरह एक पदार्थ के उत्पादन में काम आता है जिसे कहतें है – प्रोस्टॅग्लॅनडिन्स – यह रक्तचाप, प्रजनन और मांसपेशियों में संकुचन सहित शरीर की कई प्रक्रियाओं को नियमित करता है। एक अध्ययन में यह भी पाया गया है की विटामिन ई मांसपेशियों की मरम्मत में भी मदद करता है|

क्रॅन रोग, सिस्टिक फाइब्रोसिस, या जिगर से पित्त को पाचन तंत्र में स्रावित करने में असमर्थता होने पर विटामिन ई को पानी में घुलनशील रूप में लेने की सलाह दी जाती है – इससे पाचन समस्याओं से बचा जा सकता है|

Vitamin E benefits

विटामिन ई कितना खाना चाहिए – Vitamin E Daily Requirement in Hindi

अनुशंसित आहार भत्ता (आरडीए) के अनुसार प्रतिदिन 14 वर्ष की आयु से अधिक लोगों के लिए विटामिन ई 15 मिलीग्राम (या 22.4 आइयू) के करीब लेना चाहिए| जो महिलायें स्तनपान कर रही हैं उनको अधिक आवश्यकता हो सकती है – इसलिए ऐसी महिलायें 19 मिलीग्राम (28.4 आइयू) तक ले सकती हैं| सुरक्षा के लिए ऊपरी सीमा 1000 मिलीग्राम (1500 आइयू) है|

परन्तु कुछ लोगों को सप्प्लिमेंट्स लेने की ज़रूरत पड़ती है| वैसे तो हम स्वस्थ आहार से पर्याप्त विटामिन ई (Vitamin E benefits) प्राप्त कर लेते हैं|

विटामिन ई के नुकसान अधिक मात्रा में लेने से – Vitamin E Overdose in Hindi

विटामिन प्राकृतिक हैं और स्वास्थ के लिए आवश्यक हैं, लेकिन इसके खाने पर भी दवाओं के जैसे ही ध्यान देना चाहिए। यह वसा में घुलनशील विटामिन है और अधिक मात्रा में लेने पर शरीर में जमा हो जाता है। विटामिन ई (Vitamin E benefits) को मूत्र पथ के माध्यम से शरीर से धोया नहीं जा सकता। इसलिए यह धीरे धीरे विषाक्त स्तर तक जमा हो सकता है|

खाद्य पदार्थों से विटामिन ई लेना खतरनाक नहीं है। मुसीबत शुरू होती है जब पूरक आहार के माध्यम से डॉक्टर द्वारा बताई गई खुराक से अधिक लिया जाता है।

विटामिन ई के अधिक मात्रा में होने से अत्यधिक रक्तस्राव और थकान सहित कई अन्य बीमारियाँ हो सकती हैं| इससे खून पतला भी होता है इसलिए किसी सर्जरी या ऑपरेशन से पहले इसकी खुराक नहीं लेनी चाहिए|

Vitamin E benefits

विटामिन ई की कमी से नुकसान – Vitamin E Deficiency in Hindi

Vitamin E benefits विटामिन ई की कमी बहुत कम लोगों में होती है| इसकी कमी होने पर शरीर पूरी तरह से कुछ आहार को वसा में अवशोषित करने से रोकता है| एनीमिया, कंकाल मायोपथी, गतिभंग, परिधीय न्यूरोपैथी, रेटिनोपैथी, प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया और तंत्रिका क्षति के संकेत विटामिन ई की कमी दिखलाता है|